समाचार
दिल्ली में धूम्रपान को लेकर दो निहंग सिखों ने ज़ोमैटो डिलीवरी एजेंट की हत्या की

दिल्ली के तिलक नगर में दो निहंग सिखों ने 29 वर्षीय ज़ोमैटो डिलीवरी एजेंट की कृपाण मारकर हत्या कर दी। पुलिस ने बताया कि पीड़ित सागर सिंह के सीने में कृपाण से वार किया गया था।

हिंदुस्तान टाइम्स के हवाले से डीसीपी दिल्ली (पश्चिम) घनश्याम बंसल ने कहा, “शुरुआती जाँच से पता चला है कि सिंह का दो लोगों के साथ झगड़ा हुआ था, जिसके बाद उन्हें कृपाण मार दिया गया था।”

बंसल ने बताया कि घटना की सूचना पुलिस नियंत्रण कक्ष को दोपहर 12.30 बजे दी गई थी।

जाँच के दौरान मिली जानकारी के आधार पर पुलिस ने पास के चंदर विहार निवासी 22 वर्षीय हर्षदीप सिंह को गिरफ्तार किया। पुलिस ने उसके पास से हत्या में प्रयुक्त चाकू भी बरामद किया।

दूसरा आरोपी अभी फरार है, जिसे पकड़ने के प्रयास जारी है। पुलिस के मुताबिक, दोनों संदिग्ध निहंग हैं।

डीसीपी ने कहा, “पूछताछ के दौरान हर्षदीप ने पुलिस को बताया कि वह और उसका दोस्त कृष्णा पुरी की गली नंबर 13 पर एक रेस्त्रां के पास थे, जब उन्होंने सागर को उनका रास्ता रोकते हुए देखा। उन्होंने सागर को एक तरफ जाने के लिए कहा, लेकिन उन्होंने इसकी बजाय उन्हें फटकार दिया।”

हालांकि, स्थानीय निवासियों, सागर के परिवार और एम्बुलेंस को कॉल करने वाले एक अन्य ज़ोमैटो डिलीवरी एजेंट को रिपोर्ट में यह कहते हुए उद्धृत किया गया कि दोनों आरोपियों ने सागर के साथ लड़ाई की क्योंकि वह धूम्रपान कर रहा था।

बता दें कि निहंग सिखों से जुड़ी यह पहली ऐसी घटना नहीं है। गत वर्ष 15 अक्टूबर को पंजाब के तरनतारन के एक दलित व्यक्ति लखबीर सिंह का क्षत-विक्षत शव सिंघु सीमा पर मिला था। लखबीर सिंह को बैरिकेड्स पर बांधा गया था और उसके हाथ काट दिए गए थे।