समाचार
योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश से 31 देशों में निर्यात का विस्तार करने की योजना बनाई

उत्तर प्रदेश के एमएसएमई मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा है कि 15 क्षेत्रों में 100 उत्पादों की पहचान की गई है। प्रदेश से निर्यात अब 31 देशों में किया जाएगा।

उन्होंने कहा, “निर्यातकों की समस्याओं के समाधान के लिए एक सारथी ऐप भी लॉन्च किया जाएगा। निर्यात उत्पादों के लिए एक अलग ऐप तैयार किया जाएगा।”

एमएसएमई विभाग ने बुधवार (22 सितंबर) शाम को उत्तर प्रदेश के 65 निर्यातकों को प्रदेश से कुल निर्यात में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया। इस कार्यक्रम ने लखनऊ में फिक्की के सहयोग से एमएसएमई और निर्यात संवर्धन विभागों द्वारा आयोजित दो दिवसीय राज्य स्तरीय वाणिज्य उत्सव के शिखर को चिह्नित किया।

एमएसएमई मंत्री ने 2019-20 के लिए 34 और 2020-21 के लिए 31 निर्यातकों को पुरस्कार वितरित किए। उन्होंने कहा कि भारत को एक शुद्ध निर्यात देश बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुछ लक्ष्य निर्धारित किए हैं। इसके लिए उत्तर प्रदेश हर संभव प्रयास करेगा।

मंत्री ने कहा, “आने वाले दिनों में विश्व अर्थव्यवस्था में परिवर्तन होने जा रहा है और भारत अर्थव्यवस्था के मामले में चीन को पीछे छोड़ वैश्विक आपूर्ति शृंखला का हिस्सा बन जाएगा। इस वित्तीय वर्ष में राज्य निर्यात को 3 लाख करोड़ रुपये से बढ़ाकर 5 लाख करोड़ रुपये करना चाहता है।”

साथ ही सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि सरकार राज्य में निर्मित उत्पादों के लिए हवाई माल भाड़े पर सब्सिडी देने पर विचार कर रही है। उत्तर प्रदेश से निर्यात 80,000 से बढ़कर 1.25 लाख करोड़ रुपये हो गया है।