दुनिया / राजनीति
हिंदी-चीनी भाई-भाई? चीनी समाचार चैनल ने पीओके को दिखाया भारत के नक्शे में

कराची में पिछले शुक्रवार (23 नवंबर) को चीनी वाणिज्य दूतावास पर हुए हमले की खबर दिखाते हुए चीनी समाचार चैनल ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) को एक नक्शे में जम्मू-कश्मीर का हिस्सा बताया। यह चाइना ग्लोबल टेलीविज़न नेटवर्क (सीजीटीएन) चैनल पर दिखाया गया।

यह चीन की पिछली मुद्रा से विपरीत है। इससे पहले भारत के विरोध के बावजूद वह पीओके को पाकिस्तान का हिस्सा बताता रहा है। दिखाए गए नक्शे में पूरे जम्मू-कश्मीर को भारत का भाग बताया गया है और पाकिस्तान का सीमांकन किया गया है जिसमें पीओके उसका हिस्सा नहीं है।

स्रोत- सीजीटीएन

अभी यह स्पष्ट नहीं है कि यह एक नीति बद्ध तरीके से किया गया है या संयोगवश हो गया है। लेकिन इसके पीछे नीति होने के हमारे पास दो कारण हैं- एक यह कि चीन को पाकिस्तान की सुरक्षा व्यवस्था पर भरोसा नहीं रहा क्योंकि चीनी दूतावास पर हमले से पूर्व पहले भी पाकिस्तानी आवाम में चीन-विरोधी भावनाएँ देखी गई हैं।

दूसरा यह कि भारत सी-पेक (चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारा) का विरोध कर रहा है क्योंकि इसका रास्ता भारत से होकर गुज़रने से भारत की संप्रभुता को हानि पहुँचेगी। अपनी इस परियोजना को पूर्ण करने के लिए भी हो सकता है कि चीन ने भारत की ओर नरमी दिखाई है।