समाचार
“सड़क व राजमार्ग निर्माण हेतु अब विश्व स्तरीय स्वदेशी तकनीक उपलब्ध हैं”- जितेंद्र सिंह

केंद्रीय राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) विज्ञान और प्रौद्योगिकी जितेंद्र सिंह ने मंगलवार (10 मई) को कहा कि भारत में अब सड़क और राजमार्ग निर्माण हेतु विश्व स्तरीय स्वदेशी तकनीकें उपलब्ध हैं।

मंत्री सड़क निर्माण व राजमार्गों में नवीनतम मूल्यवर्धन के लिए केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय में सीएसआईआर द्वारा विकसित दो उपकरणों को जनता को समर्पित करने के एक कार्यक्रम में बोल रहे थे।

विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय की एक विज्ञप्ति के अनुसार, जितेंद्र सिंह ने कहा, “कई क्षेत्रीय मंत्रालय अपने क्षेत्र में आवेदन के लिए दी जा रही तकनीक से पूरी तरह अवगत नहीं हैं इसलिए उन्होंने एक प्रक्रिया शुरू की है, जिसमें विभिन्न क्षेत्रों के वैज्ञानिक अलग-अलग मंत्रालयों के प्रतिनिधियों के साथ अलग-अलग बैठें, ताकि उन्हें समझाया जा सके कि वे उपलब्ध तकनीक का सर्वोत्तम उपयोग कैसे कर सकते हैं।”

जितेंद्र सिंह के साथ केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और राज्यमंत्री वीके सिंह ने बिटुमेन इमल्शन का उपयोग करके ब्लैक टॉप लेयर के निर्माण हेतु मोबाइल कोल्ड मिक्सर कम पेवर और सड़क के साथ गड्ढों की मरम्मत के लिए पैच फिल मशीन लॉन्च की।

मंत्री ने कहा कि भारत कई विकासशील देशों से अत्याधुनिक तकनीकों में आगे निकलने के लिए गति के साथ बढ़ रहा है। आने वाले दशकों में भारत की उन्नति विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार के माध्यम से निर्धारित की जाएगी।

मंत्री ने कहा कि कोल्ड मिक्सर और पैच फिल मशीन भारत के पहाड़ी राज्यों विशेषकर उत्तर-पूर्वी क्षेत्र में सड़कों और राजमार्गों के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएँगे।

उन्होंने कहा कि सीएसआईआर-सीआरआरआई के प्रमुख अनुसंधान एवं विकास कार्यक्रमों में पुलों, सड़क सुरक्षा, सड़क पर्यावरण आदि सहित सड़कों और सड़क परिवहन की पूरी रेंज सम्मिलित हैं।