समाचार
भारत के पहले वर्टिकल लिफ्ट रेलवे समुद्र पुल का कार्य मार्च 2022 तक पूरा होगा- रिपोर्ट

तमिलनाडु में बन रहा पंबन पुल भारत का पहला ऐसा रेलवे पुल होगा, जो समुद्र के ऊपर वर्टिकल लिफ्ट के रूप में बनाया जा रहा है। इसका काम सितंबर 2021 में पूरा होना था लेकिन कोविड-19 के चलते परियोजना का समय बढ़ा दिया गया है।

रेल मंत्रालय ने ट्वीट किया, “नया पंबन पुल एक इंजीनियरिंग चमत्कार है! यह दोहरी लाइन वाला अत्याधुनिक पुल देश का पहला वर्टिकल लिफ्ट रेलवे समुद्र पुल होगा और इसके मार्च 2022 तक पूरा होने की उम्मीद है।”

टीवी-9 भारतवर्ष की रिपोर्ट के अनुसार, इसकी कुल लंबाई 2.07 किलोमीटर होगी और उन तीर्थ यात्रियों को सुविधा प्रदान करेगी, जो रामेश्वरम धाम की यात्रा करना चाहते हैं। धनुकोडी की यात्रा करने वाले भी इसका उपयोग कर सकते हैं, जिनका यात्रा समय कम हो जाएगा।

इस पुल के निर्माण में करीब 280 करोड़ रुपये खर्च हो रहे हैं। इसका निर्माण रेलवे विकास निगम लिमिटेड कर रहा है। नया पुल पुराने पंबन पुल के समानांतर बनाया जा रहा है। निर्माण इस तरह हुआ है कि ठीक मध्य में पुल का हिस्सा काफी ऊँचाई में उठा है, ताकि उसके नीचे से पानी के जहाज आसानी से पार हो सकें।

पुराने पंबन पुल में जहाजों को गुज़रने के लिए सर्जर स्पैन बनाया गया था लेकिन उसे हाथ से संचालित किया जाता था, नए में ऐसा नहीं है। यह काम इलेक्ट्रो मैकेनिकल कंट्रोल्ड सिस्टम से संचालित होगा। ट्रेन के कंट्रोल सिस्टम से इसे इंटरलिंक किया जाएगा, ताकि कनेक्टिविटी में समस्या ना आए।

बता दें कि इस परियोजना की आधारशिला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मार्च 2019 में कन्याकुमारी मे रखी थी। इसमें 18.3 मीटर के 100 स्पैन और 63 मीटर का एक नेविगेशन स्पैन बनाया गया है। पुराना पंबन रेल पुल 105 वर्ष पुराना है। नए के तैयार होते ही पुराने पुल को बंद कर दिया जाएगा।