समाचार
डब्ल्यूएचओ ने अफ्रीका में मिले कोरोना के नए प्रकार ओमिक्रॉन को बताया चिंताजनक

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कोविड-19 के नए प्रकार बी.1.1529 को चिंता के रूप में घोषित किया। साथ ही दक्षिण अफ्रीक के बोत्सवाना में सबसे पहले मिले इस प्रकार का नाम ओमिक्रॉन रखा है।

आजतक की रिपोर्ट के अनुसार, डब्ल्यूएचओ ने बयान में कहा, “कोरोना पर तकनीकी सलाहकार समूह की बैठक हुई। इसमें कोरोना के नए प्रकार पर चर्चा की गई। यह प्रकार नवंबर को पहली बार दक्षिण अफ्रीका में मिला था।”

डब्ल्यूएचओ ने बताया कि दक्षिण अफ्रीका में बी.1.1.529 प्रकार के सामने आने के बाद संक्रमण में भारी वृद्धि देखी गई है। यह प्रकार कई म्यूटेशन वाला है, जो चिंता बढ़ा रहा है। आरंभिक जाँच में पता चला कि इससे संक्रमण पुनः बढ़ सकता है। अफ्रीका के सभी प्रांतों में इसके मामले बढ़ रहे हैं।

कोरोना के नए प्रकार के सामने आने के बाद अमेरिका और यूरोपीय देशों ने दक्षिण अफ्रीका से आने वाली उड़ानें रोक दी हैं। साथ ही अफ्रीका व उसके आसपास के देश से आने वाले यात्रियों को क्वारंटीन किया जा रहा है।

जो बाइडन प्रशासन ने सोमवार को दक्षिण अफ्रीका से आने वाली उड़ानों को प्रतिबंधित करने का निर्णय लिया था। कनाडा ने पिछले 14 दिन में अफ्रीका से आने वाले नागरिकों का कोविड परीक्षण करवाने का निर्णय किया है।