समाचार
महाराष्ट्र में राजनीतिक अस्थिरता, एकनाथ शिंदे बोले- “बाल ठाकरे की शिक्षा नहीं भूलेंगे”

महाराष्ट्र में राजनीतिक उठापटक के केंद्र में शिवसेना के मंत्री एकनाथ शिंदे अपनी पार्टी के कुछ विधायकों के साथ सूरत में डेरा डाले हुए हैं। उन्होंने मंगलवार (21 जून) को कहा, “मैं कभी भी सत्ता के लिए धोखा नहीं दूँगा और बाल ठाकरे की शिक्षाओं को कभी नहीं छोड़ूँगा।”

शिंदे ने मराठी में ट्वीट किया, “हम बालासाहेब के पक्के शिवसैनिक हैं, जिन्होंने हमें हिंदुत्व का पाठ पढ़ाया। हम सत्ता के लिए कभी धोखा नहीं देंगे और सत्ता के लिए बालासाहेब और आनंद दिघे की शिक्षाओं को कभी नहीं छोड़ेंगे।”

यह पहला बयान महाराष्ट्र में राजनीतिक अस्थिरता उत्पन्न होने के बाद आया है। दिवंगत दीघे ठाणे से शिवसेना के दिग्गज नेता एकनाथ शिंदे के राजनीतिक गुरु थे।

शिंदे और सत्तारूढ़ शिवसेना के कुछ विधायक पार्टी के संपर्क से दूर हो गए हैं और सूरत में डेरा डाले हुए हैं। यह कदम उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महा विकास अघाड़ी (एमवीए) सरकार की स्थिरता पर सवाल उठा रहा है, जिसमें एनसीपी और कांग्रेस भी सम्मिलित हैं।