समाचार
मुंबई को नवी मुंबई से जोड़ने वाली जल टैक्सी सेवा को जलमार्ग मंत्री ने हरी झंडी दिखाई

केंद्रीय पत्तन, पोत परिवहन और जलमार्ग मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने बेलापुर जेट्टी से मुंबई के नागरिकों के लिए जल टैक्सी सेवा को झंडी दिखाकर रवाना किया।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने समारोह की अध्यक्षता की, जहाँ उन्होंने नवनिर्मित बेलापुर जेट्टी का उद्घाटन किया।

जहाजरानी मंत्रालय ने एक विज्ञप्ति में कहा कि तटीय महाराष्ट्र के लोगों की आकांक्षा के अनुरूप जल टैक्सी सेवा मुंबई और नवी मुंबई को पहली बार जोड़ेगी।

जल टैक्सी सेवाएँ घरेलू क्रूज़ टर्मिनल (डीसीटी) से शुरू होंगी और नेरुल, बेलापुर, एलीफेंटा द्वीप और जवाहरलाल नेहरू पोर्ट ट्रस्ट (जेएनपीटी) के आस-पास के स्थानों को भी जोड़ेंगी।

मंत्रालय के बयान के अनुसार, यह सेवा आरामदायक यात्रा संग समय बचाने वाली और पर्यावरण के अनुकूल परिवहन को बढ़ावा देती है।

मंत्रालय ने कहा कि जल टैक्सी सेवाएँ पर्यटन क्षेत्र को भारी प्रोत्साहन देने जा रही हैं, विशेषकर नवी मुंबई से ऐतिहासिक एलीफेंटा गुफाओं की यात्रा को। आगंतुक नवी मुंबई से गेटवे ऑफ इंडिया तक आसानी से यात्रा कर सकेंगे।

8.37 करोड़ रुपये की लागत से नवनिर्मित बेलापुर जेट्टी को जलमार्ग मंत्रालय की सागरमाला योजना के तहत 50-50 मॉडल में वित्त पोषित किया गया था।

कार्यक्रम में सोनोवाल ने परियोजनाओं को पूरा करने के लिए मुंबई मैरीटाइम बोर्ड और केंद्रीय व राज्य एजेंसियों की सराहना की, जो नागरिकों को बहुत लाभ पहुँचाता है, पर्यटन को बढ़ावा देता है और रोजगार सृजन के मार्ग खोलता है।

सोनोवाल ने कहा, “सागरमाला कार्यक्रम ने बंदरगाह आधुनिकीकरण, रेल, सड़क, क्रूज़ पर्यटन, आरओआरओ और यात्री जलबंधक, मत्स्य पालन, तटीय इंफ्रास्ट्रक्चर, कौशल विकास जैसी श्रेणियों की एक शृंखला के अंतर्गत कई परियोजनाएँ शुरू कीं। महाराष्ट्र में कार्यान्वयन के लिए 1.05 लाख करोड़ रुपये की 131 परियोजनाओं की पहचान की गई है।”

उन्होंने कहा, “सागरमाला योजना के तहत 2,078 करोड़ रुपये की कुल 131 में से 46 परियोजनाओं को वित्तीय सहायता दी जा रही।”