समाचार
इमरान खान के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव पर रविवार को मतदान, प्रधानमंत्री पद छोड़ना तय

एक मजबूत विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव का सामना कर रहे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने गुरुवार (31 मार्च) को इसे वापस लेने का अनुरोध किया। इसके लिए उन्होंने राष्ट्रीय सभा को भंग करने का भी प्रस्ताव रखा।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, इमरान खान ने विपक्ष के नेता शाहबाज़ शारिज को एक संदेश भी भिजवाया, जिसमें कहा, “यदि उनके प्रस्ताव को कोई स्वीकार नहीं करता तो वे किसी भी स्थिति का सामना करने को तैयार हैं।” हालाँकि, अभी तक इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

अब रविवार को वे अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान का सामना करेंगे। रिपोर्टों के अनुसार, विपक्ष के पास आवश्यक अंक हैं, जिसे देखते हुए इमरान खान के पास प्रधानमंत्री पद छोड़ने के अतिरिक्त कोई अन्य विकल्प नहीं बचा है।

कहा जा रहा है कि पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी और पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ के नेतृत्व में संयुक्त विपक्ष ने एक दिन पूर्व 196 सांसदों को एकजुट कर लिया था। यह आँकड़ा इमरान खान को प्रधानमंत्री के पद से हटाने के लिए आवश्यक 172 के आँकड़े से अधिक था। यही नहीं, उनकी पार्टी के कुछ सदस्यों के भी उनके विरुद्ध मतदान करने की अपेक्षा है।

गुरुवार को प्रधानमंत्री ने टीवी पर दिए अपने संबोधन में कहा था, “पाकिस्तान के भाग्य का निर्णय रविवार को होगा। मैं अंतिम समय तक लड़ूँगा। यदि विजयी हुआ तो सशक्त होकर वापस आऊँगा।”