समाचार
प्रयागराज में हुई हिंसा में 70 नामजद, 5,000 से अधिक अज्ञात लोगों पर प्राथमिकी दर्ज

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में शुक्रवार की नमाज़ के बाद हुई हिंसा के संबंध में पुलिस ने 5,000 से अधिक अज्ञात लोगों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की।

यह कार्रवाई प्रयागराज, सहारनपुर, मुरादाबाद सहित राज्य के विभिन्न हिस्सों में हुए विरोध प्रदर्शन और नारेबाजी के दौरान हुई।

प्रयागराज के अटाला क्षेत्र में जुम्मे की नमाज़ समाप्त होने के बाद लोगों ने नारेबाजी की और पथराव किया।

आजतक की रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस ने प्रदेश भर में 220 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया है, जिनमें से अधिकतम 70 लोगों को प्रयागराज में हिंसक विरोध प्रदर्शन के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया।

इसके अतिरिक्त, हाथरस में 50, सहारनपुर में 48, आंबेडकर नगर में 28, मुरादाबाद में 25 और फिरोजाबाद में आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया।

प्रयागराज के एसएसपी अजय कुमार ने हिंसा के बाद की गई कार्रवाई की जानकारी देते हुए बताया, “पुलिस ने 70 नामजद और 5,000 से अधिक अज्ञात आरोपियों के विरुद्ध मामला दर्ज किया है। उनके खिलाफ गैंगस्टर और एनएसए के तहत कार्रवाई की जाएगी।”

पुलिस ने कथित मास्टरमाइंड जावेद अहमद को भी हिरासत में लिया है।

एएनआई के हवाले से अजय कुमार ने कहा, “मास्टरमाइंड जावेद को हिरासत में लिया गया। इसमें और भी मास्टरमाइंड हो सकते हैं। असामाजिक तत्वों ने नाबालिग बच्चों का उपयोग पुलिस और प्रशासन पर पथराव करने के लिए किया था। पुलिस ने पथराव करने वालों के विरुद्ध 29 अहम धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है।”

उन्होंने कहा, “हिंसा में आईएमआईएम के कुछ लोगों के नाम सामने आए हैं लेकिन अब तक कोई संबंध नहीं मिला है और पुलिस इसके लिए साक्ष्य जुटा रही है।”

प्रयागराज एसएसपी ने कहा, “कथित मास्टरमाइंड जावेद की बेटी, जो दिल्ली में छात्रा है, भी ऐसी गतिविधियों में सम्मिलित है। यदि आवश्यकता पड़ी तो हम दिल्ली पुलिस से संपर्क करेंगे और अपनी टीमें भेजेंगे।”