समाचार
नोएडा में योगी सरकार की 200 एकड़ में डाटा सेंटर पार्क विकसित करने की योजना

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार नोएडा जिले में यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यीडा) के सेक्टर-28 में 200 एकड़ भूमि में फैला एक डाटा सेंटर पार्क विकसित करने की योजना बना रही है। इसका क्रियान्वयन अगस्त अंत तक शुरू हो जाएगा।

सरकार के प्रवक्ता के अनुसार, नोएडा में डाटा सेंटर पार्क देश-विदेश दोनों में सूचना और प्रौद्योगिकी (आईटी) उद्योग के दिग्गजों से निवेश आकर्षित करेगा। यीडा के अधिकारियों का कहना है कि पार्क में 20,000 करोड़ रुपये का निवेश आकर्षित होने की संभावना है, जिससे हजारों लोगों को रोजगार मिलेगा।

आईटी विशेषज्ञों का अनुमान है कि आईटी और इलेक्ट्रॉनिक्स क्षेत्र में भारी निवेश से नोएडा कुछ वर्षों में अमेरिका की सिलिकॉन वैली के साथ प्रतिस्पर्धा करते हुए दिखाई दे सकता है।

योगी आदित्यनाथ सरकार की निवेशक-अनुकूल नीतियों के कारण आईटी और इलेक्ट्रॉनिक्स क्षेत्र की कई प्रमुख कंपनियों ने गत चार वर्षों में नोएडा में पहले ही भारी निवेश किया। माइक्रोसॉफ्ट, अडानी ग्रुप और एमएक्यू जैसी नामी कंपनियों ने हाल ही में नोएडा में डाटा सेंटर स्थापित करने के लिए भूमि खरीदी है।

इसके अतिरिक्त, एचसीएल, गूगल और टीसीएस ने पहले ही यहाँ स्वयं को स्थापित कर लिया है, जबकि हीरानंदानी ग्रुप, नेटमैजिक सर्विसेज़, एसटीटी प्राइवेट लिमिटेड और अग्रवाल एसोसिएट लिमिटेड अपने स्वयं के डाटा सेंटर स्थापित करने के लिए उप्र सरकार के संपर्क में हैं।