समाचार
योगी सरकार का एएआई संग समझौता, उप्र के पाँच जिलों में शुरू होंगी हवाई सेवाएँ

उत्तर प्रदेश सरकार ने शुक्रवार (1 जुलाई) को 30 वर्ष के लिए पाँच हवाई अड्डों के संचालन हेतु भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) के साथ एक संचालन एवं प्रबंधन (ओ एंड एम) समझौते पर हस्ताक्षर किए।

ये पाँच हवाई अड्डे अलीगढ़, आजमगढ़, चित्रकूट, मुइरपुर और श्रावस्ती हैं।

यह पहली बार है कि भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण ने राज्य सरकार के स्वामित्व वाले हवाई अड्डों के संचालन के लिए राज्य सरकार के साथ एक ओएंडएम समझौता किया है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति में भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण और राज्य के नागरिक उड्डयन विभाग ने समझौते पर हस्ताक्षर किए।

समझौते के अनुसार, एएआई हवाई अड्डों का संचालन और प्रबंधन करेगा। यूपी सरकार द्वारा वाणिज्यिक संचालन हेतु हवाई अड्डों को तैयार करने के लिए प्रारंभिक पूंजीगत कार्यों को पूरा करने और सभी चल व अचल संपत्तियों को प्रासंगिक अनुमोदन व दस्तावेजों के साथ सौंपने के बाद एएआई सभी आवश्यक सेवाएँ प्रदान करेगा।

एएआई इन पाँच हवाई अड्डों का हवाई अड्डा लाइसेंस प्राप्त करने और उन्हें बनाए रखने हेतु भी ज़िम्मेदार होगा।

कम्युनिकेशन नेविगेशन सर्विलांस/हवाई यातायात प्रबंधन (सीएनएस/एटीएम) सेवाएँ भी एएआई द्वारा प्रदान की जाएँगी। इसके लिए राज्य सरकार एक अलग समझौता करेगी।

इसके अतिरिक्त, संबंधित एजेंसियाँ ​​​​आरक्षित सेवाएँ प्रदान करेंगी, जिसके लिए उत्तर प्रदेश सरकार नागरिक उड्डयन मंत्रालय के साथ एक अलग समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर करेगी।

उत्तर प्रदेश सरकार हवाई अड्डे पर पानी, बिजली और जल निकासी कनेक्शन आदि जैसी सुविधाओं हेतु समर्पित इंफ्रास्ट्रक्चर प्रदान करेगी।

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने कहा, “एएआई सबसे बड़ा हवाई अड्डा परिचालक और एकमात्र हवाई नेविगेशन सेवा प्रदाता होने के नाते देश भर में हवाई संपर्क प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है।”