समाचार
पुलिस ने रामपुर व आजमगढ़ उपचुनाव में लोगों को मतदान करने से रोका- आज़म खान

उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ और रामपुर जिलों में गुरुवार (23 जून) को उपचुनाव हुए। सपा नेता आज़म खान ने आरोप लगाया है कि उत्तर प्रदेश पुलिस ने उपचुनाव से एक दिन पूर्व मतदान में गड़बड़ी करने के लिए मतदाताओं को डराया धमकाया था।

टीओआई की रिपोर्ट के अनुसार, आज़म खान ने कहा, “डंडा चलाने वाले पुलिस कर्मियों ने मतदाताओं को आतंकित और अपमानित किया। उन्हें मतदान केंद्रों पर जाने से रोका।” बता दें कि दो उपचुनावों के लिए मतों की गिनती आज होगी। अपने वीडियो में उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य की पुलिस लोगों को वोट देने से रोक रही है।

सपा के गढ़ के रूप में आजमगढ़ और रामपुर जाने जाते हैं। मुस्लिम-यादव के मजबूत वोट बैंक को अपने पक्ष में करने के लिए पहचानी जाने वाली ये दोनों सीटें अखिलेश यादव के नेतृत्व वाली पार्टी के लिए हमेशा मुफीद रही हैं।

इन दोनों जिलों में कम मतदान प्रतिशत रहा। विशेषकर रामपुर में। टीओआई की रिपोर्ट में कहा गया कि आज़म खान का गढ़ और उनके विधानसभा क्षेत्र रामपुर सदर में सबसे कम मतदान हुआ। रिपोर्ट में कहा गया कि रामपुर के पुलिस अधीक्षक ने खान के आरोपों को खारिज कर दिया है।

रिपोर्ट के अनुसार, आजमगढ़ में मतदान प्रतिशत 49.43 प्रतिशत और रामपुर में लगभग 41.39 प्रतिशत था। एक अन्य रिपोर्ट में उल्लेख किया गया है कि चुनाव आयोग ने एक आवधिक रिपोर्ट में कहा कि मतदान बिना किसी गंभीर शिकायत के शांतिपूर्ण ढंग से चल रहा था। सपा नेताओं ने कहा कि आजमगढ़ में मतदान केंद्रों से बूथ एजेंटों को हटा दिया गया था। उन्होंने उचित कार्रवाई की मांग भी की है।

उधर, अतीत में रामपुर में अपने प्रभाव के लिए जानी जाने वाली कांग्रेस और बसपा रामपुर में चुनाव से दूर रही है।