समाचार
उप्र चुनाव- भाजपा में सम्मिलित हुए कांग्रेस विधायक नरेश सैनी व सपा के हरिओम यादव

उत्तर प्रदेश से कांग्रेस विधायक नरेश सैनी और समाजवादी पार्टी (सपा) विधायक हरिओम यादव बुधवार को भाजपा में सम्मिलित हो गए।

नरेश सैनी और हरिओम यादव पिछड़ी जातियों से आते हैं। दरअसल, स्वामी प्रसाद मौर्य को राज्य के कुछ हिस्सों में एक प्रभावशाली नेता के रूप में देखा जाता है। ऐसे में दोनों नेताओं को पार्टी में सम्मिलित करने का निर्णय उन बातों को खारिज करता है कि पार्टी ओबीसी के मध्य अपनी ताकत बनाए रखने में चुनौतियों का सामना कर रही है।

सपा के पूर्व विधायक धर्मपाल सिंह के साथ दो विधायक उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्रियों केशव प्रसाद मौर्य, दिनेश शर्मा और राज्य पार्टी अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह की उपस्थिति में भाजपा में सम्मिलित हुए।

वहीं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित उप्र के शीर्ष नेताओं ने बुधवार को नई दिल्ली में पार्टी के केंद्रीय नेताओं के साथ बैठक की। दरअसल, वे राज्य में 10 फरवरी से शुरू होने वाले सात चरणों वाले उप्र के विधानसभा चुनाव के शुरुआती चरणों के लिए संभावित उम्मीदवारों की सूची को अंतिम रूप देने में लगे हैं और अभियान के अन्य पहलुओं पर विचार-विमर्श कर रहे हैं।

जैसा कि कुछ रिपोर्टों में कहा जा रहा कि अटकलों के मध्य योगी आदित्यनाथ, जो वर्तमान में विधान परिषद के सदस्य हैं, विधानसभा चुनाव भी लड़ सकते हैं। पार्टी के एक नेता द्वारा कहा जा रहा है कि उनका मथुरा से चुनाव लड़ना संभव नहीं है।

पार्टी के एक नेता ने कहा कि आदित्यनाथ प्रदेश भर में भाजपा समर्थकों के बीच लोकप्रिय हैं। अब केंद्रीय चुनाव समिति, जिसके सदस्यों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी के अन्य नेता सम्मिलित हैं, वे अंतिम निर्णय करेंगे कि योगी आदित्यनाथ को चुनाव लड़ना है या नहीं।