समाचार
रूसी तेल आयात में उल्लेखनीय वृद्धि पर भारत को बड़े संकट की अमेरिका ने दी चेतावनी

अमेरिकी प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि यदि भारत रूस से अपने तेल आयात में उल्लेखनीय रूप से वृद्धि करता है तो वह एक बड़े संकट के संपर्क में आ सकता है।

अंतर-राष्ट्रीय समाचार एजेंसी रॉयटर्स  ने घटनाक्रम की जानकारी रखने वाले एक सूत्र के हवाले से कहा, “अमेरिका को भारत द्वारा रूसी तेल आयात पर कोई आपत्ति नहीं है, बशर्ते वह गत वर्षों से उल्लेखनीय वृद्धि के बिना इसे छूट पर खरीदता है।”

प्रवक्ता ने दावा किया कि अमेरिकी विदेश विभाग भारत और रूस के मध्य तेल की खरीद को लेकर हुई वार्ता से अवगत है।

अमेरिका कथित तौर पर ऊर्जा बाज़ारों पर रूस-यूक्रेन संघर्ष के प्रभाव को कम करने के लिए भारत और अन्य यूरोपीय देशों के साथ समन्वय कर रहा है।

सूत्र ने चेतावनी देते हुए कहा, “वे जो कुछ भी भुगतान कर रहे हैं, जो कुछ भी कर रहे हैं, वह प्रतिबंधों के अनुपालन में होना चाहिए। यदि नहीं तो वे खुद को एक बड़े संकट में डाल रहे हैं।”

उक्त रिपोर्ट में घटनाक्रम की जानकारी रखने वाले व्यक्ति के हवाले से कहा गया, “जब तक वह (भारत) प्रतिबंधों का अनुपालन कर रहे हैं और खरीदारी में उल्लेखनीय वृद्धि नहीं कर रहे हैं, हम (यूएस) ठीक हैं।”

कथित तौर पर अमेरिका मास्को पर प्रतिबंधों को और बढ़ाने के लिए तैयार है और उसने स्पष्ट रूप से हर देश से इसका पालन करने की अपील की है।