समाचार
जो बाइडन ने चीनी समकक्ष से की वार्ता, रूस को भौतिक सहायता देने पर दी चेतावनी

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने अपने चीनी समकक्ष शी जिनपिंग के साथ शुक्रवार को टेलीफोन पर वार्ता की। इस दौरान बाइडन ने कहा कि यदि यूक्रेन के शहरों और नागरिकों के विरुद्ध क्रूर हमले करने के लिए चीन रूस का भौतिक समर्थन करता है तो इसके परिणाम भविष्य में गंभीर होंगे।

व्हाइट हाउस ने एक बयान में कहा कि दोनों नेताओं के मध्य वीडियो कॉल के माध्यम से हुई वार्ता करीब दो घंटे तक चली, जो रूस के यूक्रेन हमले पर केंद्रित थी।

व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने बताया कि लगभग 2 घंटे का अधिकांश समय इस संकट पर अमेरिका, उसके सहयोगियों व भागीदारों के विचारों को रेखांकित करने में शी जिनपिंग के साथ बिताया गया। इसमें आक्रमण को रोकने और फिर प्रतिक्रिया करने के प्रयासों का विस्तृत अवलोकन सम्मिलित था कि कई कदम उठाने के बावजूद हम यहाँ कैसे पहुँचे।

अमेरिकी प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि वार्ता सीधी थी।

अधिकारी ने बताया, “यह वास्तविक और विस्तृत थी। दोनों नेताओं ने यूक्रेन पर रूस के अकारण व अन्यायपूर्ण आक्रमण के साथ अमेरिका-चीन संबंधों और अंतर-राष्ट्रीय व्यवस्था के लिए संकट के निहितार्थ पर चर्चा करने में अपना समय बिताया।”

उन्होंने कहा, “जो बाइडन ने शी जिनपिंग के साथ एक विस्तृत समीक्षा साझा की कि चीजें इस बिंदु तक कैसे विकसित हो गईं।” वार्ता के दौरान जो बाइडन ने इस बात पर ज़ोर दिया कि रूस यूक्रेन में जैविक हथियारों के बारे में गलत जानकारी फैला रहा है।

उधर, चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने कहा, “चीन ने हर समय जनहानि टालने का हर प्रयास करने की अपील की। यह जवाब देना आसान है कि यूक्रेन में आम लोगों को किस चीज़ की ज्यादा आवश्यकता है- भोजन की या मशीन गन की?”