समाचार
अमेरिकी सांसद डेविड नुनेस ने शी जिनपिंग के तिब्बत दौरे को भारत के लिए बताया खतरा

अमेरिका के रिपब्लिकन सांसद डेविड नुनेस ने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के हाल ही में अरुणाचल प्रदेश से सटे तिब्बत के न्यिंगची शहर के दौरे को भारत के लिए खतरा बताया है।

आजतक की रिपोर्ट के अनुसार, डेविड नुनेस ने एक साक्षात्कार में कहा, “शी जिनपिंग ने भारत की सीमा के पास तिब्बत का दौर करके अपनी जीत का दावा किया है। मुझे लगता है कि गत 30 वर्षों में यह पहली बार होगा, जब चीनी तानाशाह तिब्बत गए हैं। भारत के लिए यह इसलिए खतरा है क्योंकि चीन एक बड़ी जल परियोजना विकसित कर रहा है, जिससे भारत की जल आपूर्ति बाधित हो सकती है।”

उन्होंने कहा, “वास्तविकता यह है कि चीन आगे बढ़ रहा है और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन का प्रशासन उसे हर चीज़ करने दे रहा है, जो वह चाहता है। चीन पर तिब्बत में सांस्कृतिक और धार्मिक स्वतंत्रता को दबाने के आरोप हैं लेकिन चीन इसे खारिज करता रहता है।”

बता दें कि गत बुधवार (21 जुलाई) को चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने अरुणाचल प्रदेश के निकट रणनीतिक रूप से स्थित तिब्बती सीमावर्ती शहर न्यिंगची की अप्रत्याशित यात्रा की थी। उन्होंने ब्रह्मपुत्र नदी के बेसिन में निरीक्षण करने के लिए न्यांग नदी पुल का दौरा किया था, जिसे तिब्बती भाषा में यारलुंग जांगबो कहते हैं।

न्यिंगची तिब्बत में एक प्रांत स्तर का शहर है, जो अरुणाचल प्रदेश की सीमा से सटा है। चीन अरुणाचल प्रदेश को दक्षिण तिब्बत का हिस्सा मानता है, जिसे भारत ने अस्वीकृत कर दिया था। भारत-चीन सीमा विवाद में 3,488 किलोमीटर की वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) सम्मिलित है।