समाचार
अमेरिका द्वारा धार्मिक स्वतंत्रता उल्लंघन पर पाक, चीन विशेष चिंता वाले देश घोषित

अमेरिका ने बुधवार को पाकिस्तान, चीन, ईरान, उत्तर कोरिया और म्यांमार सहित कई देशों को धार्मिक स्वतंत्रता के उल्लंघन के लिए विशेष रूप से चिंता वाले देशों के रूप में नामित किया है।

अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने कहा, “मैं म्यांमार, चीन, इरीट्रिया, ईरान, उत्तर कोरिया, पाकिस्तान, रूस, सऊदी अरब, तजाकिस्तान और तुर्कमेनिस्तान को धार्मिक स्वतंत्रता के व्यवस्थित, सतत और गंभीर उल्लंघनों में सम्मिलित होने या सहन करने के लिए विशेष चिंता वाले देशों के रूप में नामित करता हूँ।”

एंटनी ब्लिंकन ने अल्जीरिया, कोमोरोस, क्यूबा और निकारागुआ को उन सरकारों के लिए विशेष निगरानी सूची में रखा है, जो धार्मिक स्वतंत्रता के गंभीर उल्लंघनों में सम्मिलित हैं या सहन कर रहे हैं।

अमेरिका ने अल-शबाब, बोको हरम, हयात ताहिर अल-शाम, द हॉउथिस, आईएसआईएस, आईएसआईएस-ग्रेटर सहारा, आईएसआईएस-पश्चिम अफ्रीका, जमात नसर अल-इस्लाम वल मुस्लिमिन और तालिबान को विशेष चिंता वाली संस्थाओं के रूप में नामित किया।

एंटनी ब्लिंकन ने कहा कि आज विश्व में धार्मिक स्वतंत्रता के लिए चुनौतियाँ संरचनात्मक, व्यवस्थित और गहराई से जुड़ी हुई हैं। वे हर देश में उपस्थित हैं। वे उन सभी से निरंतर वैश्विक प्रतिबद्धता की मांग करते हैं, जो यथास्थिति के रूप में घृणा, असहिष्णुता और उत्पीड़न को स्वीकार करने के इच्छुक नहीं हैं। उन्हें अंतर-राष्ट्रीय समुदाय के तत्काल ध्यान की आवश्यकता है।

उन्होंने कहा, “अमेरिका सभी सरकारों पर अपने कानूनों और प्रथाओं में कमियों को दूर करने और दुर्व्यवहार के लिए जिम्मेदार लोगों की जवाबदेही हेतु दबाव डालना जारी रखेगा।”