समाचार
अमेरिका व उसके सहयोगी देश रूसी बैंकों को ‘स्विफ्ट’ प्रणाली से निष्कासित करेंगे

यूक्रेन पर हमला करने के मद्देनजर अमेरिका व उसके प्रमुख सहयोगियों ने कुछ चुनिंदा बैंकों को स्विफ्ट से निष्कासित करने और रूस के केंद्रीय बैंक पर प्रतिबंधात्मक उपाय लागू करने का निर्णय किया।

अमेरिका, यूरोपीय संघ, फ्रांस, जर्मनी, इटली, ब्रिटेन और कनाडा के नेताओं ने स्वीकृत रूसी कंपनियों और कुलीन वर्गों की संपत्तियों के विरुद्ध कार्रवाई करने हेतु एक संयुक्त कार्य बल गठित करने का निर्णय किया।

बेल्जियम स्थित सोसाइटी फॉर वर्ल्डवाइड इंटरबैंक फाइनेंशियल टेलीकम्युनिकेशन (स्विफ्ट) को वैश्विक वित्त व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने के लिए अहम माना जाता है। यदि रूस इससे बाहर होता है तो उसके लिए बड़ा झटका होगा।

अमेरिका और उसके सहयोगियों ने एक बयान में कहा, “हम यूक्रेन की सरकार और उनके लोगों के साथ खड़े हैं। रूस का हमला उन मौलिक अंतर-राष्ट्रीय नियमों और मापदंडों का उल्लंघन है, जो द्वितीय विश्व युद्ध के बाद से प्रचलित है, जिसकी रक्षा के लिए हम प्रतिबद्ध हैं।”

सहयोगियों ने बयान में कहा, “हम रूस को जवाबदेह ठहराएँगे और सामूहिक रूप से यह सुनिश्चित करेंगे कि यह युद्ध राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के लिए एक रणनीतिक विफलता हो।”

उन्होंने कहा, “दूसरी बात यह कि हम उन प्रतिबंधात्मक उपायों को लागू करने हेतु प्रतिबद्ध हैं, जो रूस के केंद्रीय बैंक को उसके अंतर-राष्ट्रीय कोष के उपयोग से रोकेंगे, ताकि हमारे प्रतिबंधों का प्रभाव कम ना पड़े।”

बयान में आगे कहा गया, “तीसरी बात यह कि हम यूक्रेन में युद्ध में सहायता करने वाले लोगों एवं प्रतिष्ठानों के अतिरिक्त रूस सरकार की नुकसानदेह गतिविधियों के विरुद्ध कार्रवाई करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।”

“हम विशेषकर तथाकथित ‘गोल्ड पासपोर्ट’ के तहत नागरिकता के आवंटन को सीमित करने हेतु कदम उठाएँगे, जिसके चलते रूस सरकार से करीबी तौर पर जुड़े देश के अमीर नागरिक अन्य देशों के नागरिक बनते हैं और हमारी वित्तीय प्रणाली तक पहुँच हासिल करते हैं।”