समाचार
अमेरिका ने दक्षिण चीन सागर में नौपरिवहन की स्वतंत्रता के विरोध पर चीन को फटकारा

दक्षिण चीन सागर में अमेरिका द्वारा नौपरिवहन अभ्यास की स्वतंत्रता के विरोध को लेकर यूएस नौसेना ने चीन को फटकार लगाई। यह बात चीन द्वारा संचालित समाचार पत्र के प्रधान संपादक हु शीजिन के अमेरिका पर आरोप लगाने के बाद सामने आई। उन्होंने कहा कि जब वह अपने क्षेत्रों के पास नौपरिवहन की स्वतंत्रता की बात करता है तो उसके दोहरे मानदंड होते हैं।

शीजिन ने एक ट्वीट में कहा, “अपेक्षा है कि जब चीनी युद्धपोत कैरिबियन सागर से गुज़रेंगे या एक दिन हवाई व गुआम के पास दिखाई देंगे तो अमेरिका नौपरिवहन की स्वतंत्रता के उसी मानक को बनाए रखेगा। वह दिन भी जल्द आएगा।”

शीजिन के ट्वीट का जवाब देते हुए अमेरिकी नौसेना ने कहा, “हमने पीएलए नौसेना के अस्तित्व की तुलना में लंबे समय तक नौपरिवहन की स्वतंत्रता के मानकों को बरकरार रखा है।”

अमेरिकी नौसेना ने कुछ घटनाओं पर भी प्रकाश डाला, जहाँ चीनी नौसेना के जहाज अमेरिकी क्षेत्रों, हवाई और गुआम के पास दिखाई दिए थे। इसका उल्लेख ग्लोबल टाइम्स के प्रधान संपादक ने अपने ट्वीट में किया था।

अमेरिकी नौसेना ने कहा, “अमेरिकी नौसेना अंतर-राष्ट्रीय कानून के अनुसार विश्व भर में नौपरिवहन करती है। सभी देशों को अंतर-राष्ट्रीय कानून के अनुसार नौपरिवहन की स्वतंत्रता का लाभ मिलता है।”

दक्षिण चीन सागर में अमेरिका द्वारा नौपरिवहन की स्वतंत्रता के अभ्यास पर चीन के विरोध की बात करते हुए यूएस नौसेना ने कहा, “दुर्भाग्य से नौपरिवहन की स्वतंत्रता से लाभान्वित होने वाले सभी दूसरों को समान स्वतंत्रता नहीं देंगे।”