समाचार
कानपुर मेट्रो के ट्रायल रन को मुख्यमंत्री योगी ने दिखाई हरी झंडी, 15 दिसंबर तक संचालन

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार (10 नवंबर) को कानपुर मेट्रो के ट्रायल रन को हरी झंडी दिखाई और कहा कि शहरवासियों को शीघ्र ही सबसे अच्छी परिवहन सुविधा मिलेगी।

आईआईटी-कानपुर और मोतीझील के मध्य मेट्रो का ट्रायल रन किया गया। इस दौरान अपने संबोधन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, “अगले चार से छह सप्ताह के भीतर हम मेट्रो परीक्षण की प्रक्रिया को पूरा करने में सक्षम होंगे। इसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कानपुरवासियों के लिए लॉन्च किया जाएगा।”

परियोजना अपने निर्धारित समय से पहले पूरी हो रही है, यह देखते हुए उन्होंने कहा, “अगले चार से छह सप्ताह में कानपुरवासियों के पास मेट्रो रेल के रूप में सबसे अच्छी परिवहन सुविधा होगी।”

जिलाधिकारी विशाख जी अय्यर के अनुसार, कानपुर मेट्रो का संचालन 31 दिसंबर से शुरू होने वाला है। हालाँकि, मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि 15 से 20 दिसंबर के मध्य कानपुर मेट्रो का व्यावसायिक संचालन शुरू किया जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा, “कानपुर मेट्रो का काम 15 नवंबर 2019 को शुरू हुआ था। गत 19 माह से पूरी दुनिया और देश ने कोविड-19 का सामना किया है। इस चुनौती के बावजूद उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने यह उपलब्धि प्राप्त की। इस पूरे कार्यक्रम में केंद्र सरकार का भी योगदान है।”

इससे पूर्व उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कारपोरेशन के प्रबंध निदेशक कुमार केशव ने मुख्यमंत्री को कानपुर मेट्रो परियोजना से अवगत करवाया। पहले चरण में मेट्रो आईआईटी कानपुर और मोतीझील के मध्य 9 किलोमीटर की दूरी तय करेगी। दूसरे चरण की मेट्रो मोतीझील और ट्रांसपोर्ट नगर के मध्य चलेगी।

इस बीच, सपा ने भाजपा पर अपने शासन में शुरू की गई योजनाओं का श्रेय लेने का आरोप लगाया।