समाचार
उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव- भाजपा ने 45 और उम्मीदवार घोषित किए

भाजपा ने आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए रविवार को 45 और उम्मीदवारों की घोषणा की। अमेठी से संजय सिंह और बलिया नगर से दया शंकर सिंह को मैदान में उतारा है।

दया शंकर सिंह और उनकी पत्नी स्वाति सिंह, जो वर्तमान में राज्य सरकार में मंत्री हैं, दोनों सरोजनीनगर से चुनाव लड़ने के लिए पार्टी के टिकट की मांग कर रहे थे। हालाँकि, पार्टी ने वहाँ से पूर्व ईडी अधिकारी राजेश्वर सिंह को मैदान में उतारा।

पार्टी ने मौजूदा विधायक सुरेंद्र सिंह को हटा दिया और बैरिया से राज्यमंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला को मैदान में उतारा है।

भगवा पार्टी ने कुशीनगर के पडरौना से मनीष जायसवाल को उतारा है। वह सीट से कांग्रेस के उम्मीदवार थे। पूर्व केंद्रीय मंत्री आरपीएन सिंह के भाजपा में शामिल होने के बाद उन्होंने हाल ही में कांग्रेस से त्याग-पत्र दे दिया था।

पडरौना का वर्तमान में राज्य के मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य द्वारा विधानसभा में प्रतिनिधित्व किया जाता है, जिन्होंने हाल ही में भाजपा छोड़ दी और सपा में शामिल आ गए। मौर्य को सपा ने कुशीनगर जिले के फाजिलनगर विधानसभा क्षेत्र से मैदान में उतारा है।

आजमगढ़ के सगरी से विधायक वंदना सिंह, जो बसपा से भाजपा में सम्मिलित हुई थीं, को उसी सीट से नामांकित किया गया है। बिहार के राज्यपाल फागू चौहान के बेटे रामविलास चौहान को भगवा पार्टी ने मऊ जिले के मधुबन से मैदान में उतारा है।

मधुबन का वर्तमान में विधानसभा में प्रतिनिधित्व राज्य मंत्री दारा सिंह चौहान कर रहे हैं, जो हाल ही में सपा में गए हैं। भाजपा ने मुहम्मदाबाद से अलका राय और गाजीपुर जिले के गाजीपुर विधानसभा क्षेत्र से राज्यमंत्री संगीता बलवंत बिंद को मैदान में उतारा है।

राज्य मंत्री अनिल राजभर को वाराणसी के शिवपुर से उम्मीदवार बनाया गया है, जबकि नीलकंठ तिवारी और रवींद्र जायसवाल को क्रमशः वाराणसी दक्षिण और वाराणसी उत्तर निर्वाचन क्षेत्रों से टिकट दिया गया।

राज्य मंत्री रामशंकर पटेल को मिर्जापुर जिले के मरिहान से मैदान में उतारा गया है।