समाचार
“ओमिक्रॉन से निपटने को तैयार, दवाइयों व ऑक्सीजन का भरपूर स्टॉक”- स्वास्थ्य मंत्री

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मंडाविया ने सोमवार (20 दिसंबर) को राज्यसभा में कहा, “कोविड-19 के नए प्रकार ओमिक्रॉन से निपटने के लिए भारत पूरी तरह से तैयार है। अगले माह टीका उत्पादन की क्षमता 45 करोड़ खुराक प्रति माह होने की अपेक्षा है।”

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा, “किसी भी संकट से उबरने के लिए दवाओं और ऑक्सीजन का भरपूर स्टॉक किया गया है। राज्यों को 48,000 वेंटिलेटर वितरित किए गए हैं।”

ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों पर चर्चा के दौरान उन्होंने कहा, “विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसे चिंताजनक प्रकार घोषित किया है। सरकार लगातार इस पर ध्यान दे रही है। केंद्र जनसंख्या पर इस नए प्रकार के असर को समझने हेतु विशेषज्ञों और सभी राज्य व केंद्र शासित प्रदेशों की सरकारों से संपर्क बनाए हुए है।”

केंद्रीय मंत्री ने जानकारी दी कि ओमिक्रॉन के अब तक भारत में 161 मामलों की पुष्टि हुई है। वहीं, देशव्यापी टीकाकरण अभियान के अंतर्गत 88 प्रतिशत जनसंख्या को टीके की पहली खुराक और 59 प्रतिशत को दोनों खुराकें दी जा चुकी हैं।

उन्होंने बताया कि खतरे वाले देशों की पहचान की गई है। ऐसे देशों से आने वाले यात्रियों को भारत पहुँचने पर अनिवार्य रूप से जाँच कराने और 7 दिन तक पृथक रहने व 7 दिन बाद पुनः जाँच कराने का प्रावधान है।