समाचार
गुजरात के धोलेरा में ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे के पहले चरण के विकास को मिली स्वीकृति

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडल समिति (सीसीईए) ने 1,305 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से गुजरात के धोलेरा में नए ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे के पहले चरण के विकास के प्रस्ताव को स्वीकृति दे दी। इसे अब 48 माह के भीतर पूरा किया जाना है।

मंगलवार (14 जून) को जारी विज्ञप्ति में बताया गया कि यह परियोजना धोलेरा इंटरनेशनल एयरपोर्ट कंपनी लिमिटेड (डीआईएसीएल) द्वारा कार्यान्वित की जा रही है, जो एक संयुक्त उद्यम कंपनी है। इसमें भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई), गुजरात सरकार (जीओजी) और राष्ट्रीय औद्योगिक गलियारा विकास एवं कार्यान्वयन ट्रस्ट (एनआईसीडीआईटी) क्रमशः 51:33:16 के अनुपात से सम्मिलित हैं।

सीसीईए की विज्ञप्ति के अनुसार, धोलेरा हवाई अड्डा धोलेरा विशेष निवेश क्षेत्र (डीएसआईआर) से यात्री और कार्गो यातायात प्राप्त करने के लिए तैयार है। साथ ही औद्योगिक क्षेत्र की सेवा के लिए एक प्रमुख मालभाड़ा हब बनने की अपेक्षा है।

यह हवाई अड्डा पास के क्षेत्र की आवश्यकताओं को भी पूरा करेगा और अहमदाबाद के लिए दूसरे हवाई अड्डे के रूप में काम करेगा।

धोलेरा में न्यू ग्रीनफील्ड हवाई अड्डा अहमदाबाद हवाई अड्डे से 80 किलोमीटर की हवाई दूरी पर स्थित है।

योजना हवाई अड्डे के वर्ष 2025-26 से संचालन की है और प्रारंभिक यात्री यातायात प्रति वर्ष तीन लाख यात्रियों का अनुमान है। वहीं, 20 वर्षों की अवधि में 23 लाख तक बढ़ने की अपेक्षा है।

वर्ष 2025-26 से 20,000 टन वार्षिक मालभाड़ा यातायात का भी अनुमान है, जो 20 वर्षों की अवधि में बढ़कर 2,73,000 टन हो जाएगा।