Uncategorised
हाईस-आईएस के साथ 30 अन्य उपग्रह 29 नवंबर को इसरो द्वारा प्रक्षेपित किए जाएँगे

29 नवंबर को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) 30 अन्य उपग्रहों के साथ भारत का हाईस-आईएस पृथ्वी अवलोकन उपग्रह को अंतरिक्ष में भेजेगा, हिंदुस्तान टाइम्स  ने रिपोर्ट किया। इनमें से 23 उपग्रह यूएस के हैं जो इसरो के विश्वासपूर्ण रॉकेट पीएसएलवी-सी43 द्वारा प्रक्षेपित किए जाएँगे।

हाईस-आईएस उपग्रह के विषय में संस्था ने कहा, “यह उपग्रह 636 किलोमीटर पर सूर्य समकालिक कक्षा (एसएसओ) में 97.957 डिग्री के झुकाव पर स्थित होगा। इस उपग्रह का जीवनकाल पाँच वर्षों का होगा।”

सूर्य समकालिक कक्षा में उपस्थित उपग्रह सदैव सूर्य की ओर रुख करते हैं और पृथ्वी से जैसे सूर्य की गति दिखती है, उसका अनुसरण करते हैं। इसके कारण इनके पैनलों में सदैव सौर्य ऊर्जा का संचार होता रहता है। दूसरी ओर भू-स्थिर उपग्रह पृथ्वी के वर्तन के अनुसार घूमता है। इसलिए जब पृथ्वि से देखा जाए तो वे स्थिर प्रतीत होते हैं।

“हाईस-आईएस का मुख्य उद्देश्य इलेक्ट्रोमैगनेटिक वर्णक्रम के दृश्य, निकट इंफ्रारेड और शॉर्टवेव इंफ्रारेड क्षेत्रों में पृथ्वी का अध्ययन है।”, इसरो ने बताया।