समाचार
अल्ट्राटेक सीमेंट ने उत्पादन क्षमता में वृद्धि हेतु ₹12,886 करोड़ पूजी व्यय की घोषणा की

अल्ट्राटेक सीमेंट ने ब्राउनफील्ड और ग्रीनफील्ड विस्तार के मिश्रण के साथ अपनी सीमेंट उत्पादन क्षमता को 2.26 करोड़ टन प्रति वर्ष (एमटीपीए) बढ़ाने के लिए 12,886 करोड़ रुपये के पूंजी व्यय की घोषणा की।

यह अतिरिक्त क्षमता देश भर में एकीकृत इकाइयों, पिसाई इकाइयों और बल्क टर्मिनलों की स्थापना से सृजित की जाएगी।

इन नई क्षमताओं से वाणिज्यिक उत्पादन 2024-25 तक चरणबद्ध तरीके से आरंभ होने की अपेक्षा है। अल्ट्राटेक का वर्तमान विस्तार कार्यक्रम जारी है और इसके 2022-23 तक पूरा होने का अनुमान है।

कंपनी ने कहा, “विस्तार के नवीनतम दौर के पूरा होने पर कंपनी की क्षमता बढ़कर 159.25 एमटीपीए हो जाएगी, जो चीन के बाहर दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी सीमेंट कंपनी के रूप में अपनी स्थिति को मजबूत करेगी।”

आदित्य बिड़ला समूह के अध्यक्ष कुमार मंगलम बिड़ला ने कहा, “यह महत्वाकांक्षी योजना अल्ट्राटेक की चल रही परिवर्तनकारी विकास यात्रा में महत्वपूर्ण है। कंपनी ने गत 5 वर्षों में अपनी क्षमता को दोगुने से अधिक किया है और आवास, सड़कों व अन्य इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए भारत की भविष्य की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध है।”

उन्होंने आगे कहा, “यह निवेश भारत की विकास क्षमता के साथ सीमेंट उद्योग के बाज़ार की गतिशीलता की गहरी और सूक्ष्म समझ पर एक मजबूत विश्वास द्वारा समर्थित है। मुझे भरोसा है कि इस क्षमता की वजह से भारत में कई क्षेत्रों में नौकरियों और देश के विकास में वृद्धि होगी।”

भारत में सीमेंट की खपत केवल 242 किलोग्राम प्रति व्यक्ति है, जबकि वैश्विक औसत 525 किलोग्राम प्रति व्यक्ति है। भारत में सीमेंट क्षेत्र के विकास की काफी संभावनाएँ हैं।