समाचार
“हमने भारत से रूस को लेकर अपनी चिंताओं के बारे में बात की है”- अमेरिका

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार को वॉशिंगटन में सोमवार को कहा कि अमेरिका के साथ भारत के करीबी और सौहार्दपूर्ण संबंध हैं। यही नहीं, उसने रूस को लेकर अपने देश की चिंताओं के बारे में नई दिल्ली से भी बात की है।

यूक्रेन के विरुद्ध रूस के हमले पर भारत संयुक्त राष्ट्र महासभा का विशेष आपातकालीन सत्र बुलाने संबंधी एक प्रस्ताव पर मतदान से दूर रहा था। इससे पूर्व भी यूक्रेन के विरुद्ध रूसी हमले पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् के एक प्रस्ताव पर हुए मतदान में भारत सम्मिलित नहीं हुआ था।

यूक्रेन पर रूस के हमले पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् के वोट के दौरान भारत के दो बार दूर रहने के बाद वॉशिंगटन की प्रतिक्रिया के बारे में पूछे जाने पर अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता नेड प्राइस ने सोमवार को कहा, ‘भारत के साथ हमारे बहुत करीबी संबंध हैं। हमने अपनी चिंताओं, अपनी साझा चिंताओं पर चर्चा की है।”

उन्होंने कहा, “हम अपने भारतीय भागीदारों के साथ नियमित जुड़ाव रखते हैं। अमीराती भागीदारों के साथ हमारा नियमित जुड़ाव है। हमारे यूरोपीय सहयोगियों और हमारे यूरोपीय भागीदारों के साथ नियमित जुड़ाव है। इस वजह से हर स्तर पर हम चर्चा कर रहे हैं।”

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने गत सप्ताह यूक्रेन में एक विशेष सैन्य अभियान की घोषणा की थी।

रूस ने मध्य और पूर्वी यूक्रेन में कई क्षेत्रों पर हमले किए हैं, जिसकी अमेरिका सहित कई देशों ने व्यापक निंदा की और प्रतिबंध लगाए हैं।

इस बीच, निकट पूर्व, दक्षिण पूर्व, मध्य एशिया एवं आतंकवाद रोधी कदमों संबंधी मामलों की अमेरिकी सीनेट की उपसमिति ने भारत के प्रति देश की नीति पर सुनवाई करने की घोषणा की है। यह सुनवाई 2 मार्च को आरंभ होगी।