समाचार
यूआईडीएआई की 122 शहरों में 166 स्वतंत्र आधार नामांकन व सुधार केंद्रों की योजना

इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने शनिवार (2 अक्टूबर) को बताया कि भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने देश भर के 122 शहरों में 166 स्वतंत्र आधार नामांकन और सुधार केंद्र खोलने की अपनी योजना के तहत 55 आधार सेवा केंद्र (एएसके) खोले हैं।

ये बैंकों, डाकघरों और राज्य सरकारों द्वारा संचालित लगभग 52,000 आधार नामांकन केंद्रों के अतिरिक्त हैं। मंत्रालय के अनुसार, सप्ताह के सभी दिनों में खुले रहने वाले ये आधार सेवा केंद्र अब तक दिव्यांग व्यक्तियों सहित 70 लाख से अधिक लोगों को सेवा प्रदान कर चुके हैं।

मंत्रालय ने कहा, “इन केंद्रों में मॉडल-ए एएसके के लिए प्रतिदिन 1,000 नामांकन और सुधार अनुरोधों को संभालने की क्षमता है। इसी तरह मॉडल बी के लिए प्रतिदिन 500 और मॉडल सी के लिए प्रतिदिन 250 नामांकन और सुधार अनुरोधों को संभालने की क्षमता है।”

ये एएसके सुबह 9 बजे से शाम 5.30 बजे तक खुले रहते हैं और केवल सार्वजनिक अवकाश पर बंद रहते हैं। वहीं, इन केंद्रों में आधार नामांकन मुफ्त है। जनसांख्यिकीय अपडेट के लिए 50 रुपये और जनसांख्यिकीय अपडेट के साथ या बिना बायोमेट्रिक अपडेट के लिए 100 रुपये का मामूली शुल्क देना पड़ता है।

आधार सेवा केंद्र में ऑनलाइन नियुक्ति प्रणाली और टोकन प्रबंधन प्रणाली है, जो निवासियों को नामांकन और सुधार प्रक्रिया के प्रासंगिक चरणों में परेशानी मुक्त तरीके से मार्गदर्शन करती है।

मंत्रालय ने कहा, “चूंकि ये केंद्र वातानुकूलित हैं। पर्याप्त बैठने की क्षमता के साथ डिज़ाइन किए गए हैं और दिव्यांगों के अनुकूल भी हैं।”