समाचार
जापान- कुमोमोटो में स्थापित होने वाली चिप फैक्ट्री हेतु 3.47 अरब डॉलर का होगा निवेश

उन्नत सेमीकंडक्टर निर्माताओं को समर्थन देने के लिए जापान अपने वित्तीय वर्ष 2021 के पूरक बजट के हिस्से के रूप में 600 अरब येन (5.2 अरब डॉलर) प्रदान करेगा।

निक्की की रिपोर्ट के अनुसार, लगभग 400 अरब येन (3.47 अरब डॉलर) नई चिप निर्माण इकाई में निवेश की ओर होगा। इसे टीएसएमसी (ताइवान सेमीकंडक्टर मैन्युफैक्चरिंग कंपनी) द्वारा स्थापित किया जाएगा, जो सोनी सेमीकंडक्टर सॉल्यूशंस कॉरपोरेशन के साथ साझेदारी में दुनिया की अग्रणी चिप निर्माता है।

चिप निर्माण संयंत्र को बनाने में 800 अरब येन (7 अरब डॉलर) का खर्च आएगा। निर्माण 2022 में शुरू होने वाला है और संयंत्र के 2024 तक चिप्स का उत्पादन शुरू होने की अपेक्षा है।

संयुक्त उद्यम कंपनी, जिसे जापान एडवांस्ड सेमीकंडक्टर मैन्युफैक्चरिंग, इंक (जेएएसएम) कहा जाएगा, की स्थापना जापान के कुमामोटो में की जाएगी, ताकि विशेष प्रौद्योगिकियों के लिए मजबूत वैश्विक बाज़ार की मांग को पूरा करने हेतु 22/28-नैनोमीटर प्रक्रियाओं की प्रारंभिक तकनीक के साथ फाउंड्री सेवा प्रदान की जा सके।

सोनी 50 करोड़ डॉलर तक का निवेश करेगी और संयुक्त कंपनी में 20 प्रतिशथ से अधिक भागीदारी नहीं रखेगी।

यूएस मेमोरी चिपमेकर माइक्रोन टेक्नोलॉजी और घरेलू प्लेटर कियॉक्सिया होल्डिंग अन्य सेमीकंडक्टर निर्माण कंपनी हैं, जिन्हें जापानी सरकार से सब्सिडी प्राप्त होने की संभावना है।

अक्टूबर में माइक्रोन टेक्नोलॉजी ने घोषणा की कि वह अगले दशक में अत्याधुनिक मेमोरी चिप निर्माण और अनुसंधान और विकास (आरएंडडी) में संभावित यूएस फैब विस्तार सहित वैश्विक स्तर पर 150 अरब डॉलर से अधिक का निवेश करने की योजना बना रही है।