समाचार
आईटी मंत्री से कागज़ छीनकर फाड़ने पर टीएमसी सांसद पूरे मॉनसून सत्र के लिए निलंबित

राज्यसभा में गुरुवार (22 जुलाई) को आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव से कागज़ छीनकर उन्हें फाड़ने वाले तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) सांसद शांतनु सेन को पूरे मानसून सत्र के लिए उच्च सदन से निलंबित कर दिया गया।

संसदीय कार्य राज्यमंत्री वी मुरलीधरन द्वारा शांतनु सेन के निलंबन के लिए राज्यसभा में एक प्रस्ताव पेश किए जाने के बाद यह घटनाक्रम सामने आया। प्रस्ताव को ध्वनि मत से पारित किया गया और सभापति एम वेंकैया नायडू ने सेन को सदन छोड़ने के लिए कहा।

इंडिया टीवी की रिपोर्ट के अनुसार, वेंकैया नायडू ने कहा, “मैं कल राज्यसभा में हुए घटनाक्रम से बहुत व्यथित हूँ। दुर्भाग्य से सदन की कार्यवाही मंत्री से छीन ली गई और उसके टुकड़े-टुकड़े कर दिए गए। इस तरह की कार्रवाई हमारे संसदीय लोकतंत्र पर एक हमला है।”

इससे पूर्व, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष शांतनु सेन ने राज्यसभा में पेगासस मुद्दे पर बयान दे रहे आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव से कागज़ छीन लिए और उन्हें फाड़ दिया था। इस घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए केंद्रीय मंत्री वैष्णव ने कहा कि टीएमसी उसी तरह की हिंसा की संस्कृति यहाँ ला रही है, जो बंगाल की संसद में है।