समाचार
मुजाहिदों को छुड़वाने के लिए लखनऊ में मंदिर व आरएसएस कार्यालय उड़ाने की धमकी

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में एक बड़े मंदिर और आरएसएस कार्यालय को उड़ाने को लेकर गुरुवार (30 जुलाई) शाम को धमकी भरा पत्र मिला। डाक से यह पत्र अलीगंज स्थित नए हनुमान मंदिर के पते पर आया था। इसमें लिखा है कि यदि 14 अगस्त की शाम तक मुजाहिदों को रिहा नहीं किया गया, उसके गंभीर परिणाम होंगे।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, मंदिर प्रशासन ने संयुक्त पुलिस आयुक्त अपराध व मुख्यालय नीलाब्ज़ा चौधरी से संपर्क किया है। मामले की जाँच के लिए अपराध शाखा की टीम लगा दी गई है।

नए हनुमान मंदिर के प्रशासनिक कार्य से जुड़े उत्कर्ष बाजपेयी ने बताया, “पत्र कल शाम को मंदिर प्रबंधक के नाम से आया था। इसे रजिस्टर्ड डाक से भेजा गया था। इसमें कहा गया कि यदि मुजाहिदों को तय समय पर रिहा नहीं किया गया तो 10 लोगों की सूची तैयार है, जिसमें कुछ आरएसएस के बड़े पदाधिकारी भी हैं। पत्र की भाषा संवेदनशील और भड़काऊ हैं, जिसमें महिलाओं को लेकर अपशब्द लिखे गए हैं।”

उन्होंने आगे बताया कि पत्र भेजने वाले के नाम व पते के स्थान पर जोगिंदर सिंह, खदरा मदेयगंज लिखा हुआ है। वहीं, नीलाब्ज़ा चौधरी ने कहा कि मामले की जाँच जारी है। पत्र जारी होने वाले त्रिवेणीनगर के उप डाकघर के ज़िम्मेदार अधिकारियों से संपर्क किया जाएगा।