समाचार
सीबीआई की तरह एसआईटी भी होगी, मुख्यमंत्री योगी ने अधिकारियों को दिए निर्देश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश में होने वाले बड़े घोटालों, जालसाजी, पेपर लीक जैसे मामलों की जाँच की गुणवत्ता बढ़ाने हेतु सीबीआई की तर्ज पर यूपी स्पेशल पुलिस स्टेब्लिशमेंट एक्ट तैयार करने के निर्देश दिए हैं।

न्यूज़-18 की रिपोर्ट के अनुसार, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यह निर्देश गुरुवार को  गृह विभाग की प्रस्तुतीकरण के दौरान दिए। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार को समाप्त करने के लिए एसआईटी को सीबीआई की तरह बनाकर ऐसे मामलों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाए।

प्रस्तुतिकरण के बाद अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने संवाददाताओं को बताया, “मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि प्रदेश में होने वाली बड़े घोटालों व अपराधों की जाँच के लिए एसआईटी एक प्रशासनिक आदेश के आधार पर काम कर रही है लेकिन इसे और प्रभावी बनाने हेतु सीबीआई की तरह कानून बनाया जाएगा।”

उन्होंने कहा, “सीबीआई दिल्ली पुलिस स्पेशल स्टेब्लिशमेंट एक्ट-1946 के अंतर्गत काम करती है। इसके तहत उसके पास पूरे देश में किसी भी मामले की अपने यहाँ रिपोर्ट दर्ज करने और विवेचना करने का अधिकार है। इसी प्रकार एसआईटी को भी अधिकार देकर विवेचना का काम और सशक्त किया जाएगा।”

मुख्यमंत्री ने सभी कैबिनेट मंत्रियों को अब क्षेत्र में जाने को कहा है। उन्होंने कहा,  “18 मंडलों के लिए 18 टीमें गठित कर 18 सप्ताह के लिए कार्यक्रम तय किए जाएँगे। सचिवालय को दलालों से मुक्त रखा जाएगा। 100 दिन में एसटीएफ अयोध्या यूनिट का गठन कर दिया जाए।”