समाचार
अल-कायदा प्रमुख अयमान अल-जवाहिरी हिजाब विवाद में कूदा, मुस्कान की प्रशंसा की

अल-कायदा प्रमुख अयमान अल-जवाहिरी, जिसके 2020 में मृत होने की अफवाह थी, मंगलवार (5 अप्रैल) को आतंकी संगठन के अस-साहब मीडिया द्वारा जारी 9 मिनट के वीडियो में पुनः सामने आया और कर्नाटक हिजाब विवाद पर बयान दिया।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, जवाहिरी के वीडियो को एक अमेरिकी गैर-सरकारी संगठन साइट इंटेलिजेंस द्वारा सत्यापित किया गया, जो श्वेत वर्चस्ववादी और जिहादी संगठनों की ऑनलाइन गतिविधियों पर नज़र रखता है।

द नोबल वुमन ऑफ इंडिया शीर्षक वाले वीडियो में अल-जवाहिरी ने कर्नाटक में उपजे हिजाब विवाद की ओर संकेत किया और उडुपी के एक कॉलेज की विद्यार्थी बीबी मुस्कान ज़ैनब खान की प्रशंसा की। दरअसल, छात्रा ने हिजाब समर्थक विरोध प्रदर्शनों में भाग लिया था और जय श्रीराम का नारा लगाने वाले लड़कों के एक समूह के समक्ष अल्लाहु अकबर का नारा लगाया था, जिससे वह सोशल मीडिया पर प्रसिद्ध हो गई थी।

एक प्रिंट रिपोर्ट में अल-जवाहिरी के हवाले से कहा गया, “अल्लाह उसे पतनशील पश्चिमी दुनिया के माध्यम से एक हीन भावना से त्रस्त बहनों को नैतिक सबक दिखाने के लिए पुरस्कृत करे।”

अल-कायदा प्रमुख ने कथित तौर पर कहा, “भारतीय मुसलमानों को इस उत्पीड़न पर प्रतिक्रिया देनी चाहिए। मुझे वीडियो और सोशल मीडिया के माध्यम से मुस्कान के बारे में पता चला। मैं मुस्कान खान के वीडियो से इतना प्रभावित हुआ कि मैंने उसके लिए एक कविता लिखी है।” उसे बहन कहते हुए अल-जवाहिरी ने कहा कि उसने तकबीर की आवाज़ उठाकर मेरा दिल जीत लिया है।

आतंकी संगठन प्रमुख ने भारत के मूर्तिपूजक हिंदू लोकतंत्र पर मुसलमानों पर अत्याचार करने का आरोप लगाया।

उसने कहा, “यह धोखे का वही तरीका है, जिसका असली स्वरूप फ्रांस, हॉलैंड और स्विट्जरलैंड ने उजागर किया था, जब उन्होंने नग्नता की अनुमति देते हुए हिजाब पर प्रतिबंध लगा दिया था।”