समाचार
अफगानिस्तान में तालिबान ने गुरुद्वारा थाला साहिब की छत से निशान साहिब उतरवाया

अफगानिस्तान के पक्तिया प्रांत में स्थित चमकानी क्षेत्र के गुरुद्वारा थाला साहिब की छत से तालिबानी आतंकियों ने सिखों के पवित्र ध्वज निशान साहिब को उतरवा दिया है। इस ऐतिहासिक गुरुद्वारे में गुरु नानक देव भी पधार चुके हैं।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, हालाँकि, तालिबान इस तरह की रिपोर्टों को नहीं मान रहा है, जिसमें ध्वज के स्थान से निशान साहिब हटा दिख रहा है। संगठन का कहना है, “ऐसी बातें आधारहीन हैं। पक्तिया में कई वर्षों से सिख और हिंदू समुदाय के लोग रहते आए हैं। हम उनके अधिकारों के लिए तत्पर हैं। किसी भी अन्य अफगान नागरिक की तरह ही वे अपना सामान्य जीवन जी सकते हैं।”

एएनआई से जुड़े नवीन कुमार ने इसको लेकर ट्वीट भी किया है। यहीं से गत वर्ष निदान सिंह सचदेव का अपहरण कर लिया गया था। वह सावन के महीने से पहले सेवा के लिए गुरुद्वारे पहुँचे थे। बाद में उन्हें छोड़ दिया गया था।

बता दें कि अमेरिकी सेना की वापसी के साथ ही अफगानिस्तान में तालिबान का आतंक बढ़ता ही जा रहा है। उसने विगत कुछ दिनों में कवि, लेखक, हास्य कलाकार, आम जनता सहित कई लोगों को मार दिया है। बीते दिनों भारतीय पत्रकार दानिश सिद्दीकी की भी तालिबान ने जघन्य हत्या कर दी थी। इसमें भी अपना हाथ होने से उसने मना कर दिया था।