समाचार
तालिबान ने महिलाओं के अधिकार छीने, हील पहनना व बिना बुर्के के निकलना अपराध

अफगानिस्तान में तालिबान राज के एक बार फिर स्थापित होने के साथ ही वहाँ शरिया कानून के मुताबिक महिलाओं के कई अधिकार छीन लिए गए हैं। ऐसे में उन्हें कड़े नियमों के अंतर्गत पुनः रहने के लिए विवश होना पड़ेगा।

न्यूज़-18 की रिपोर्ट के अनुसार, तालिबान ने इसके लिए 10 कड़े नियम बनाए हैं। इसके अंतर्गत अफगानिस्तान में महिलाएँ बिना किसी रिश्तेदार के सड़क पर नहीं निकलेंगी। बाहर निकलने पर बुर्का पहनना आवश्यक होगा। हील्स पर प्रतिबंध होगा, ताकि पुरुषों को उनके आने की आहट न सुनाई दे। सार्वजनिक जगहों पर उनकी आवाज़ नहीं सुनाई देनी चाहिए।

सबसे नीचे के तल वाले घर की खिड़कियाँ रंगी होनी चाहिए, ताकि महिलाएँ दिखाई न दें। वे फोटो नहीं खिंचवा सकतीं। उनके चित्र अखबारों और घरों में नहीं लग सकते। महिला शब्द को किसी भी जगह के नाम से हटा दिया जाए। वे बालकनी या खिड़की पर नहीं आ सकतीं।

इसके अतिरिक्त, वे किसी भी सार्जनिक एकत्रीकरण का हिस्सा न हों। वे नाखूनों पर रंग नहीं लगा सकतीं और ना ही अपनी इच्छा से शादी करने की सोच सकती हैं। अगर वे इन नियमों का पालन नहीं करती हैं तो उनको निर्दयी दंडों का सामना करना पड़ेगा।