समाचार
काबुल में पाक के विरुद्ध प्रदर्शन पर तालिबान ने बरसाईं गोलियाँ, महिलाएँ व बच्चे घायल

अफगानिस्तान के काबुल में मंगलवार (7 अगस्त) को पाकिस्तान के विरुद्ध विरोध प्रदर्शन को रोकने के लिए तालिबान की ओर से गोलीबारी की गई। इसमें कई महिलाओं व बच्चों के घायल होने की जानकारी मिल रही है।

न्यूज़-18 की रिपोर्ट के अनुसार, सैकड़ों की संख्या में महिलाएँ, पुरुष पाकिस्तान का विरोध करते हुए राष्ट्रपति भवन की ओर बढ़ रहे थे, जिनको भगाने के लिए तालिबानियों ने गोलीबारी शुरू कर दी थी।

रिपोर्ट के मुताबिक, काबुल में राष्ट्रपति भवन के पास सेरेना होटल में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के प्रमुख फैज हमीद एक सप्ताह से रुके हुए हैं। ऐसे में प्रदर्शनकारी इसी होटल की ओर बढ़ रहे थे।

पंजशीर घाटी के युद्ध में तालिबान की ओर से पाकिस्तान के ड्रोन हमले और आईएसआई मुखिया फैज़ हामिद के काबुल दौरे से अफगानिस्तान के नागरिकों में आक्रोश है। अंतर-राष्ट्रीय बिरादरी ने भी इसकी आलोचना की है।

अफगानिस्तान के लोग काबुल में अलग-अलग जगहों पर पाकिस्तान के विरुद्ध प्रदर्शन कर रहे हैं। काबुल में पहली बार रात में प्रदर्शन हुआ। इसके अतिरिक्त अमेरिका के वॉशिंगटन में भी रैलियाँ निकालकर पाकिस्तान के विरोध में नारे लगाए गए। लोगों ने पाकिस्तान पर नए सिरे से प्रतिबंध लगाने की मांग की।

नेशनल रजिस्टेंस फ्रंट (एनआरएफ) की अगुआई कर रहे अहमद मसूद ने भी कहा कि पाकिस्तान वायुसेना लगातार हमले कर रही है, ताकि तालिबान आगे बढ़ सके। अब हमारी असली लड़ाई पाकिस्तान से है क्योंकि पाक सेना और आईएसआई तालिबानियों का नेतृत्व कर रहे हैं। इससे पूर्व, अफगानिस्तान के कार्यकारी राष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह भी पाकिस्तान द्वारा तालिबान की सहायता करने की बात कह चुके हैं।