समाचार
“सकारात्मक सोच संग आया तालिबान, महिलाओं को करने दे रहा काम”- शाहिद अफरीदी

एक विवादास्पद टिप्पणी में पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी शाहिद अफरीदी ने तालिबान की प्रशंसा करते हुए कहा कि वे बहुत सकारात्मक सोच के साथ सामने आए हैं।

पाकिस्तानी पत्रकार नैला इनायत द्वारा शाहिद अफरीदी का मीडिया पत्रकारों से घिरा एक वीडियो सोशल मीडिया मंच पर वायरल हो गया। इसमें उन्होंने कहा, “तालिबान बहुत सकारात्मक सोच के साथ आया है। वे महिलाओं को काम करने दे रहे हैं।”

पाकिस्तान की राष्ट्रीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान ने यह भी कहा कि तालिबान मज़ेदार क्रिकेट प्रेमी है। उन्होंने कहा, “मेरा मानना ​​है कि तालिबान को क्रिकेट बहुत पसंद है। मैदान में उनकी भागीदारी से क्रिकेट को बढ़वा मिलने में सहायता मिलेगी।”

अफरीदी का बयान वास्तविकता से बिल्कुल विपरीत है क्योंकि कई अफगान एथलीट और राजनेता, विशेषकर महिलाएँ तालिबान की कट्टर सोच के भय से देश छोड़कर भाग गई हैं।

हालाँकि, अफगानिस्तान में काम करने वाली महिलाएँ एवं लड़कियाँ तालिबान शासन का सामना करने से भयभीत हैं। दरअसल, आतंकवादी समूह ने अफगानिस्तान में कामकाजी महिलाओं को घर के अंदर रहने की चेतावनी दी है, जब तक कि वे अपने सुरक्षाबलों को प्रशिक्षित नहीं करते कि इस तरह की महिलाओं से कैसे पेश आया जाए।

तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुज़ाहिद ने एक संवाददाता सम्मेलन में कथित तौर पर कहा था कि हमारे सुरक्षाबलों को प्रशिक्षित नहीं किया जाता है कि महिलाओं के साथ कैसे व्यवहार किया जाए या महिलाओं से कैसे बात की जाए।