समाचार
काबुल के पवित्र करता परवन गुरुद्वारे पर तालिबान का हमला, कई लोगों को बनाया बंदी

उत्तर-पश्चिमी काबुल में स्थित करता परवन गुरुद्वारा वह स्थान है, जहाँ गुरु नानक देव आए थे। अब उसी पर तालिबान के हथियारबंद आतंकियों ने हमला बोल दिया। उन्होंने वहाँ कई लोगों को बंदी भी बना लिया।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, इंडियन वर्ल्ड फोरम के अध्यक्ष पुनीत सिंह चंडोक ने जानकारी दी कि काबुल में तालिबान की अल्पसंख्यकों पर बर्बरता पुनः नज़र आने लगी है। हथियारों के साथ आए तालिबान अधिकारियों के एक समूह ने गुरुद्वारे में घुसकर कई लोगों को हिरासत में ले लिया।

स्थानीय लोगों का कहना है कि तालिबानी अधिकारियों ने गुरुद्वारे के सीसीटीवी कैमरों को तोड़ दिया और परिसर में भी तोड़फोड़ की। हमले की जानकारी मिलने पर स्थानीय गुरुद्वारा प्रबंधन भी मौके पर पहुँच गया।

बता दें इससे पूर्व, तालिबान ने अफगानिस्तान के पूर्वी प्रांत स्थित गुरुद्वारे की छत से निशान साहिब सिख पवित्र ध्वज को हटा दिया था। वहाँ सिखों के गुरु गुरु नानक देव जी भी एक बार आ चुके थे। आरोप लगाया जा रहा है कि तालिबान अल्पसंख्यकों की धार्मिक और जातीय पहचान के आधार पर हत्या कर रहा है।