समाचार
भारत ने बड़ी कार्रवाई करते हुए 54 चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाने का आदेश जारी किया

केंद्र सरकार ने बड़ी कार्रवाई करते हुए 54 चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाने का आदेश जारी किया। यह आदेश इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय ने सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम 2000 की धारा 69ए के तहत जारी किया गया।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, इस संबंध में जानकारी रखने वाले अधिकारियों ने बताया कि भारतीयों की निजता और सुरक्षा को खतरा बताते हुए ठोस कदम उठाया गया।

प्रतिबंधित किए गए 54 ऐप की सूची में अधिकतर ऐसे थे, जो चीन की दिग्गज कंपनियों टेनसेंट, अलीबाबा और नेटईज़ से संबंधित थे। अधिकारी ने बताया कि 54 चीनी ऐप को पहले ही प्ले स्टोर के माध्यम से भारत में प्रवेश करने से रोक दिया गया।

रिपोर्ट के मुताबिक, अधिकतर ऐप 2020 में प्रतिबंधित किए गए ऐप का पुनः ब्रांडेड या पुनर्नामांकित अवतार थे। मंत्रालय का कहना है कि ये ऐप चीन जैसे विदेशों में भारतीयों के संवेदनशील डाटा को सर्वर पर स्थानांतरण कर रहे थे। मंत्रालय ने गूगल प्ले स्टोर से इन ऐपों को अवरोध करने के भी निर्देश दिए।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, “टेनसेंट और अलीबाबा के कई ऐपों ने स्वामित्व छिपाने के लिए अपना रूप बदला था। उन्हें हॉन्ग-कॉन्ग या सिंगापुर जैसे देशों से भी चलाया जा रहा लेकिन अंततः डाटा चीनी सर्वर पर जा रहा था। इन ऐपों को एपीके फाइल्स जैसे माध्यमों से डाउनलोड करने की सुविधा मिल रही थी और सरकार ने इसका संज्ञान लिया है।”

बताया यह भी जा रहा कि मोबाइल गेम गरेना फ्री फायर पर भी प्रतिबंध का खतरा मंडरा रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक, गूगल प्ले और ऐप्पल स्टोर से यह गेम गायब था। माना जा रहा कि यह भी प्रतिबंधित ऐपों की सूची में सम्मिलित हो सकता है। हालाँकि, अब तक गरेना की ओर से इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।