समाचार
चेन्नई में निगरानी पोत विग्रह नौसेना में सम्मिलित, रक्षा मंत्री बोले- “बढ़ रही आत्मनिर्भरता”

तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में हुए कार्यक्रम में शनिवार (28 अगस्त) को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की उपस्थिति में निगरानी पोत विग्रह को भारतीय तटरक्षक बल में सम्मिलित किया गया। इसका संचालन 11 अधिकारियों और 110 नाविकों की कंपनी द्वारा किया जाएगा। इसके सम्मिलित होने के साथ देश के पास 157 पोत और 66 विमान हो गए हैं।

न्यूज़-18 की रिपोर्ट के अनुसार, राजनाथ सिंह ने कार्यक्रम के दौरान कहा, “यह पोत तटीय रक्षा क्षमता में महत्वपूर्ण सुधार के साथ रक्षा क्षेत्र में हमारी लगातार बढ़ती आत्मनिर्भरता को प्रदर्शित करता है। हमारी सुरक्षा क्षमताओं में वृद्धि का परिणाम यह है कि 2008 में हुए आतंकी हमले के बाद से समुद्री मार्ग से कोई आतंकी घटना अब तक नहीं हुई है।”

उन्होंने कहा, “पोत विग्रह आधुनिक राडार से सुसज्जित है। इसको भविष्य में आने वाली आवश्यकताओं को देखते हुए डिज़ाइन किया गया है। हम कह सकते हैं कि भारत रक्षा क्षेत्र में आत्‍मनिर्भर बनने की ओर अपने कदम बढ़ा चुका है।”

रक्षा मंत्री ने कहा, “विश्वभर में हो रहे परिवर्तन हमारे लिए चिंता का विषय हैं। इस समय हमें अपने पहरेदारों को सशक्त रखना होगा। हालाँकि, ये चुनौतीपूर्ण समय हमें एक अवसर भी प्रदान करता है।” कार्यक्रम के दौरान सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकंद नरवाने भी उपस्थित थे।