समाचार
भारत को एस-400 मिसाइल प्रणाली की आपूर्ति तय कार्यक्रम के अनुसार- रूसी राजदूत

रूसी राजदूत डेनिस अलीपोव ने कहा कि रूस एस-400 वायु रक्षा मिसाइल प्रणाली की आपूर्ति तय कार्यक्रम के अनुसार बेहतर तरीके से कर रहा है।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, रूसी राजदूत ने भारत और रूस के मध्य राजनयिक संबंधों की स्थापना के 75वें वर्ष के अवसर पर ‘रशिया डाइजेस्ट’ पत्रिका में लिखी एक प्रस्तावना में यह टिप्पणी की थी।

उन्होंने कहा, “आज का रूस-भारत बहुआयामी सहयोग विश्व के सबसे विस्तृत सहयोगों में से एक है।”

प्रस्तावना में अलीपोव ने यह भी कहा कि रूस और भारत उन प्रमुख पहल को सफलतापूर्वक लागू करना जारी रखे हुए हैं, जो सहयोग को अद्वितीय बनाते हैं।

रूस ने एस-400 प्रणाली की पहली रेजिमेंट की आपूर्ति गत वर्ष दिसंबर में शुरू की थी, जबकि दूसरे रेजिमेंट की आपूर्ति अप्रैल में शुरू हुई थी।

मिलाइल प्रणाली को इस प्रकार तैनात किया गया है कि यह उत्तरी क्षेत्र में चीन के साथ लगी सीमा के कुछ हिस्सों के साथ पाकिस्तान के साथ लगी सीमा को भी कवर कर सकती है।

मार्च में रूस ने कहा था कि उसके विरुद्ध प्रतिबंधों का भारत को एस-400 मिसाइल प्रणाली की आपूर्ति पर कोई असर नहीं पड़ेगा।