समाचार
श्रीलंका ने कथित मछली पकड़ने के आरोप में 11 भारतीय मछुआरों को किया गिरफ्तार

श्रीलंकाई नौसेना ने देश के जल क्षेत्र में कथित रूप से अवैध तरीके से मछली पकड़ने के आरोप में 11 भारतीय मछुआरों को गिरफ्तार किया और तीन मछली पकड़ने वाली नौकाओं को जब्त किया। एक आधिकारिक बयान में मंगलवार को यह जानकारी दी गई।

नौसेना ने कहा कि गिरफ्तारियाँ सोमवार को उत्तर में डेल्फ़्ट द्वीप के पास हुई थीं। वे बॉटम ट्रॉलिंग (मछली पकड़ने की विधि, जिसमें भारी जाल को समुद्र में फेंका जाता है) में लिप्त थे।

बयान में कहा गया कि स्थानीय मछुआरों पर अवैध रूप से मछली पकड़ने और श्रीलंका में मत्स्य संसाधनों की स्थिरता के प्रभाव को कम करने हेतु श्रीलंकाई जल में अवैध मछली पकड़ने में कटौती करने को गिरफ्तारियाँ नौसेना के गश्त का हिस्सा हैं।

मछुआरों का मुद्दा दोनों देशों के बीच संबंधों में एक विवादास्पद मुद्दा है। सोमवार को नई दिल्ली में विदेश मंत्री एस जयशंकर और श्रीलंकाई समकक्ष जीएल पेरिस के मध्य हुई वार्ता में भी मछुआरों का मुद्दा उठा था।

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा, “मछुआरों के मुद्दे पर विचार विमर्श किया गया और इस बात पर सहमति व्यक्त की गई कि द्विपक्षीय तंत्रों की शीघ्र बैठक होनी चाहिए। आर्थिक सुधार के लिए अधिक पर्यटन के महत्व को स्वीकार किया गया। साथ ही बेहतर संयोजकता के माध्यम से पी2पी लिंकेज के महत्व पर भी बल दिया गया।”

11 भारतीय मछुआरों की गिरफ्तारी तब हुईं, जब स्थानीय आव्रजन अधिकारी गत माह उत्तरी जाफना प्रायद्वीप में श्रीलंका की एक न्यायालय द्वारा रिहा किए गए 56 भारतीय मछुआरों को वापस लाने की व्यवस्था कर रहे हैं।

जेल अधीक्षक और प्रवक्ता चंदना एकनायके ने रविवार को बताया कि 1 फरवरी को 21 भारतीय मछुआरों को गिरफ्तार किया गया था और उन्हें पॉइंट पेड्रो मजिस्ट्रेट अदालत ने 21 फरवरी तक के लिए रिमांड पर लिया है।