समाचार
सपा के इत्र वाले मित्रों ने उप्र के विकास ने नाम पर सारे पैसे उड़ा दिए थे- योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सपा सांसद पुष्पराज जैन पम्मी सहित विभिन्न इत्र उत्पादकों के आधिकारिक और व्यावसायिक परिसरों पर आईटी छापे का ज़िक्र करते हुए हमला किया कि सपा के इत्र वाले मित्रों ने प्रदेश के विकास के नाम पर सारे पैसे उड़ा दिए थे।

योगी आदित्यनाथ ने पम्मी और अन्य इत्र उत्पादकों के व्यावसायिक परिसरों में आयकर विभाग की छापेमारी के दौरान दीवारों के मध्य नोटों के बंडलों के छिपे होने का ज़िक्र करते हुए कहा, “सपा के इत्र बनाने वाले मित्रों ने उत्तर प्रदेश में पार्टी के शासन के दौरान सारा पैसा खा लिया था और कंक्रीट की दीवारों में खड़ी देवी लक्ष्मी को भाजपा को मुक्त करवाना पड़ा था।”

मुख्यमंत्री ने गाजियाबाद और मेरठ में चुनावी दौरे के दौरान मोदीनगर में एक चुनावी सभा की। उन्होंने कहा, “भाजपा ने प्रदेश के विकास के लिए धन का उपयोग किया, जो कि 43 लाख घरों, गरीबों के लिए 2.61 करोड़ शौचालयों के निर्माण के अतिरिक्त एक्सप्रेसवे, रक्षा गलियारों, रेलवे लाइनों और अन्य इंफ्रास्ट्रक्चर परियोजनाओं से स्पष्ट होता है।”

मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र और राज्य में उनकी पार्टी की डबल इंजन सरकार ने पैसे और संसाधनों का उपयोग लोगों को निःशुल्क कोविड टीके लगाने और गरीबों को खिलाने के लिए किया है।

मेरठ से प्रयागराज तक आने वाले 600 किलोमीटर के गंगा एक्सप्रेसवे के बारे में आदित्यनाथ ने कहा, “पश्चिमी उप्र के लोग कुछ ही घंटों के भीतर प्रयागराज जा सकेंगे, गंगा में पवित्र डुबकी लगा सकेंगे और इलाहाबाद उच्च न्यायालय में अपने मामलों की सुनवाई में भाग लेने के बाद रात को वापस लौट सकेंगे।”

उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी की विकास परियोजनाएँ कब्रिस्तान की दीवारों के निर्माण और कब्रिस्तानों के विकास तक ही सीमित रही हैं।