समाचार
शेल ने भारतीय अक्षय ऊर्जा कंपनी स्प्रंग एनर्जी को 1.55 अरब डॉलर में खरीदा

यूके स्थित तेल प्रमुख शेल के पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी शेल ओवरसीज इंवेस्टमेंट ने शुक्रवार (29 अप्रैल) को स्प्रंग एनर्जी समूह की प्रमुख कंपनी एक्टिस सोलनेर्गी लिमिटेड (एक्टिस) के साथ 1.55 बिलियन डॉलर में सोलनेर्गी पावर प्राइवेट लिमिटेड का 100 प्रतिशत अधिग्रहण करने हेतु एक समझौते पर हस्ताक्षर किए।

सोलनेर्गी पावर प्राइवेट लिमिटेड मॉरीशस में निगमित है और भारत में स्प्रंग एनर्जी समूह की कंपनियों का प्रत्यक्ष शेयरधारक है।

पुणे स्थित स्प्रंग एनर्जी अपने वर्तमान ब्रांड को बनाए रखेगी और शेल के अक्षय और ऊर्जा समाधान एकीकृत पावर व्यवसाय के भीतर शेल की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी के रूप में काम करेगी।

इसका लेन-देन नियामक स्वीकृति के अधीन है और 2022 में बाद में बंद होने की अपेक्षा है।

स्प्रंग एनर्जी भारत में बिजली वितरण कंपनियों को सौर और पवन ऊर्जा की आपूर्ति करती है। इसके पोर्टफोलियो में 2.9 गीगावॉट-पीक (जीडब्ल्यूपी) एसेट्स (2.1 जीडब्ल्यूपी ऑपरेटिंग और 0.8 जीडब्ल्यूपी अनुबंधित) सम्मिलित हैं। साथ ही आगामी योजनाओं में 7.5 जीडब्ल्यूपी अक्षय ऊर्जा परियोजनाएँ भी सम्मिलित हैं।

एक प्रेस विज्ञप्ति में शेल के इंटीग्रेटेड गैस, रिन्यूएबल्स और एनर्जी सॉल्यूशंस के निदेशक वेल सावन ने शुक्रवार को कहा, “यह समझौता भारत में वास्तव में एकीकृत ऊर्जा परिवर्तन व्यवसाय के निर्माण में शेल को पहले प्रवर्तक में से एक के रूप में स्थापित करता है।”

विज्ञप्ति के अनुसार, समझौते के माध्यम से शेल द्वारा प्राप्त सौर और पवन संपत्तियाँ, संचालन में शेल की वर्तमान अक्षय क्षमता को तीन गुना कर देंगी और अपनी ‘शक्ति प्रगति’ रणनीति देने में सहायता करेगी।

विज्ञप्ति में कहा गया कि शक्ति प्रगति का महत्वपूर्ण भाग एक सर्वश्रेष्ठ-इन-क्लास एकीकृत विद्युत व्यवसाय विकसित करना है, जो शेल को 2050 तक एक लाभदायक शुद्ध-शून्य उत्सर्जन ऊर्जा व्यवसाय बनने के अपने लक्ष्य तक पहुँचने में सहायता करेगा।