समाचार
बेंगलुरु को मिल सकता दूसरा हवाई अड्डा, तमिलनाडु सरकार की होसुर में निर्माण योजना

बेंगलुरु क्षेत्र को शीघ्र ही आसपास एक दूसरा हवाई अड्डा मिल सकता है। दरअसल, तमिलनाडु सरकार ने होसुर में एक हवाई अड्डे के निर्माण की योजना का नवीनीकरण किया।

तमिलनाडु के कृष्णागिरि जिले में होसुर शहर भारत की तकनीकी राजधानी बेंगलुरु के दक्षिण-पूर्वी दिशा में स्थित है।

अशोक लीलैंड, टाइटन, टीवीएस मोटर्स, कैटरपिलर, सुंदरम फास्टनर्स और शैफलर जैसे विनिर्माण दिग्गजों का ठिकाना होने के कारण होसुर एक औद्योगिक क्षेत्र है। यह अब तेज़ी से इलेक्ट्रिक वाहनों और बैट्री निर्माण जैसे नए युग के उद्योगों का केंद्र बनता जा रहा है और ओला ने इसके पास अपनी बड़ी फैक्ट्री स्थापित की है।

हाल ही में तमिलनाडु औद्योगिक विकास निगम लिमिटेड (टिडको) ने होसुर में हवाई अड्डे की स्थापना के लिए मांग मूल्यांकन, हवाई यातायात पूर्वानुमान और संभावित स्थलों की पहचान करने हेतु एक सलाहकार का चयन करने को एक प्रस्ताव का अनुरोध जारी किया।

2018 में तमिलनाडु ने होसुर में तनेजा एयरोस्पेस एंड एविएशन के स्वामित्व वाले एक निजी हवाई अड्डे से सेवाएँ शुरू करने का प्रयास किया  था लेकिन योजनाएँ अमल में नहीं आईं।

डेक्कन हेराल्ड को टिडको के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक पंकज कुमार बंसल ने बताया, “टिडको ने सलाहकारों को होसुर में हवाई अड्डे के लिए एक स्थान की पहचान करने हेतु एक व्यवहार्यता अध्ययन करने बुलाया है। अध्ययन सभी कारकों पर विस्तृत रूप से विचार करेगा।”

एक अन्य अधिकारी ने कहा, “बेंगलुरु शहर होसुर के करीब हो सकता है पर उसका हवाई अड्डा नहीं। हमें लगता है कि होसुर को एक औद्योगिक केंद्र के रूप में दर्जा देने के लिए उसका एक विशेष हवाई अड्डा होना चाहिए, जो आने वाले वर्षों में विकसित होगा। बेंगलुरु एयरपोर्ट से होसुर की दूरी भी एक वजह है। हम सभी संभावनाएँ ढूंढ रहे हैं।”