समाचार
सर्वोच्च न्यायालय ने धनबाद के न्यायाधीश की संदिग्ध मौत पर राज्य सरकार से मांगी रिपोर्ट

झारखंड के धनबाद में न्यायाधीश उत्तम आनंद की संदिग्ध मौत पर सर्वोच्च न्यायालय ने शुक्रवार (30 जुलाई) को स्वतः संज्ञान लेते हुए एक सप्ताह में राज्य के मुख्य सचिव व डीजीपी से रिपोर्ट मांगी है।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार मुख्य न्यायाधीश एनवी रमण और जस्टिस सूर्यकांत की पीठ ने कहा, “देशभर में न्यायिक अधिकारियों पर हमले की कई घटनाएँ घटित हो रही हैं। हम उनकी सुरक्षा के विषय पर सुनवाई करेंगे।”

सर्वोच्च न्यायालय ने अपने आदेश में कहा, “हाल ही में न्यायालय परिसर के अंदर और बाहर न्यायिक अधिकारियों और वकीलों पर हमले के कई मामले सामने आए हैं। ऐसे में न्यायिक अधिकारियों की सुरक्षा के मुद्दे पर विचार करने की आवश्यकता है।”

बता दें कि धनबाद में मॉर्निंग वॉक के दौरान न्यायाधीश उत्तम आनंद को एक अज्ञात ऑटो ने कुचल दिया था, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई थी। घटना का सीसीटीवी फुटेज वायरल होने पर उच्च न्यायालय ने मामले का स्वतः संज्ञान लिया और राज्य सरकार से जवाब मांगा था।

डीजीपी ने न्यायालय बताया था कि जाँच के लिए एसआईटी का गठन कर दिया गया है। उच्च न्यायालय ने कहा कि यदि जाँच सही से नहीं हुई तो मामला सीबीआई को स्थानांतरित कर दिया जाएगा। पुलिस ने हत्या में उपयुक्त ऑटो को बरामद कर लिया है। साथ ही दो लोगों को गिरफ्तार भी कर लिया है।