समाचार
आज़म की जमानत पर सर्वोच्च न्यायालय नहीं की सुनवाई, उच्च न्यायालय जाने को कहा

सर्वोच्च न्यायालय ने जेल में बंद समाजवादी पार्टी (सपा) के वरिष्ठ नेता आज़म खान की अंतरिम जमानत को लेकर दाखिल की गई याचिका पर सुनवाई करने से मना कर दिया। न्यायालय ने उन्हें इलाहाबाद उच्च न्यायालय जाने का निर्देश दिया है।

एबीपी न्यूज़ की रिपोर्ट के अनुसार, रामपुर सीट से सपा उम्मीदवार आज़म खान ने अपनी पार्टी के चुनाव प्रचार के लिए अंतरिम जमानत की मांग की थी। याचिका में कहा गया था कि उनके विरुद्ध चल रहे मामलों में जानबूझकर धीमी कार्यवाही की जा रही है, ताकि वह अधिक समय तक जेल में बंद रहें।

न्यायाधीश एल नागेश्वर राव और बीआर गवई की पीठ ने सपा के वरिष्ठ नेता से इलाहाबाद उच्च न्यायालय में अपनी मांग रखने को कहा। मामले की सुनवाई के दौरान उनके वकील कपिल सिब्बल ने कहा कि इलाहाबाद उच्च न्यायालय में जमानत याचिका कई माह से लंबित है। न्यायाधीशों से भी अनुरोध किया है कि वे शीघ्र सुनवाई के लिए कहें।

इस पर सर्वोच्च न्यायालय ने उच्च न्यायालय से कहा कि वह इस मामले का शीघ्र निपटारा करने का प्रयास करें। बता दें कि उत्तर प्रदेश की सीतापुर जेल में आजम खान बंद हैं। उन्होंने विधानसभा चुनाव में भाग लेने के लिए अंतरिम जमानत पर रिहाई मांगी थी।

आज़म के अतिरिक्त उनके बेटे अब्दुल्लाह आज़म खान और पत्नी तजीन फातिमा भी लंबे समय तक जेल में रहे हैं। फिलहाल, दोनों जमानत पर बाहर हैं। अब्दुल्लाह भी स्वार सीट से समाजवादी पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं।