समाचार
प्रधानमंत्री मोदी ने पुतिन से वार्ता कर तनाव को वार्ता से सुलझाने का अनुरोध किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से फोन पर वार्ता की। इस दौरान उन्होंने यूक्रेन के साथ तनाव को वार्ता के माध्यम से सुलझाने का अनुरोध किया। उन्होंने यूक्रेन में भारतीय नागरिकों की सुरक्षा के मुद्दे को भी उठाया।

न्यूज़-18 की रिपोर्ट के अनुसार, पीएमओ कार्यालय ने जानकारी दी कि पुतिन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ यूक्रेन के संबंध में हालिया घटनाक्रमों से अवगत करवाया। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि रूस और नाटो समूह के मध्य मतभेदों को केवल ईमानदार वार्ता के माध्यम से ही सुलझाया जा सकता है। उन्होंने तत्काल हिंसा रोकने की अपील करते हुए सभी पक्षों से कूटनीतिक वार्ता और संवाद के मार्ग पर लौटने के ठोस प्रयास करने का आह्वान किया।

पीएमओ ने जानकारी दी कि प्रधानमंत्री ने वार्ता के दौरान भारतीय नागरिकों और छात्रों की सुरक्षा को लेकर चर्चा की। उन्होंने रूस को बताया कि भारतीय नागरिकों की देशवापसी भारत के लिए प्राथमिकता है। दोनों नेता इस बात पर सहमत हुए कि उनके अधिकारी और राजनयिक दल मुद्दों पर नियमित संपर्क बनाए रखेंगे।

मोदी-पुतिन वार्ता के बारे में रूसी बयान में कहा गया कि प्रधानमंत्री मोदी ने स्पष्टीकरण के लिए धन्यवाद दिया और यूक्रेन में भारतीय नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने में सहायता मांगी। राष्ट्रपति पुतिन ने कहा कि इसके आवश्यक निर्देश दिए जाएँगे। इस दौरान दिसंबर 2021 में आयोजित रूस-भारत शिखर सम्मेलन के संदर्भ में द्विपक्षीय सहयोग के कुछ मुद्दों पर भी वार्ता हुई।

बता दें कि मोदी-पुतिन के मध्य टेलीफोन वार्ता रूसी हमले के बाद यूक्रेन द्वारा भारत का समर्थन मांगे जाने के कुछ घंटों बाद हुई। पुतिन से प्रधानमंत्री मोदी की वार्ता से पहले यूक्रेन ने कहा था कि रूस के साथ भारत के विशेष संबंध हैं और स्थिति को सामान्य बनाने के लिए वह अधिक सक्रिय भूमिका निभा सकता है।