समाचार
यूक्रेन पर हमले शुरू, पुतिन बोले- “किसी ने हस्तक्षेप किया तो परिणाम भयानक होंगे”

राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के आदेश के बाद रूसी सेना ने यूक्रेन के अंदर हमले करने शुरू कर दिए हैं। यूक्रेन की राजधानी कीव में धमाकों की आवाज़ें सुनी गई हैं। पुतिन ने दोनबास क्षेत्र में सेना को जाने का आदेश दिया है।

आजतक की रिपोर्ट के अनुसार, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने चेतावनी देते हुए कहा, “यदि विश्व के किसी भी देश ने मामले में हस्तक्षेप करने का प्रयास किया तो परिणाम भयानक होंगे। अब यूक्रेन-रूस के युद्ध को टाला नहीं जा सकता है।”

उन्होंने कहा, “रूस विशेष सेना अभियान लॉन्च कर रहा है। इसका लक्ष्य यूक्रेन का गैरफौजीकरण है।” पुतिन की ओर से यूक्रेन की सेना को कहा गया है कि वे हथियार डालें और अपने घर जाएँ।

अपने आपातकालीन भाषण में रूसी राष्ट्रपति ने कहा, “यह विवाद हमारे लिए जीवन-मरण का सवाल है। यूक्रेन नियो-नाजी का समर्थन कर रहा है। इस वजह से हमने विशेष सेना अभियान शुरू किया है।”

नाटो को उन्होंने कहा, “इस सैन्य कार्रवाई का जो भी परिणाम आए, हम उसके लिए तैयार हैं। हमने अपनी ओर से सारे निर्णय ले लिए हैं।”

बता दें कि यूक्रेन 1990 से पूर्व तक सोवियत संघ का भाग था। 30 वर्ष पहले सोवियत संघ के विघटन के समय यह वर्तमान रूस से अलग हुआ था। स्वतंत्रता के बाद यूक्रेन परंपरागत तौर पर रूस का साथी बना रहा।

2014 तक विक्टर यानुकोविच के राष्ट्रपति रहने तक दोनों देशों के रिश्ते मजबूत रहे लेकिन उनके हटते ही यूक्रेन में रूस विरोधी सरकार आ गई। इस कारण वहाँ के रूसी भाषी क्षेत्रों में अस्थिरता पैदा होने लगी।