समाचार
पूर्वोत्तर में 2014 से 2021 तक इंफ्रास्ट्रक्चर विकास पर ₹2.65 लाख करोड़ खर्च हुए- केंद्र

केंद्र सरकार ने मार्च-2014 से मार्च-2021 तक पूर्वोत्तर भारत में इंफ्रास्ट्रक्चर विकास परियोजनाओं पर 2,65,513 करोड़ रुपये खर्च किए हैं।

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने नई दिल्ली में असम राइफल्स द्वारा आयोजित एक सेमिनार को संबोधित करते हुए यह जानकारी दी।

दि इकोनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट में नित्यानंद राय के हवाले से कहा गया, “पूर्वोत्तर क्षेत्र की उपेक्षा की गई क्योंकि देश का समग्र विकास खंडों में देखा गया था। आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर के निर्माण और संयोजकता में सुधार करके इस क्षेत्र की विशाल क्षमता को उजागर किया जाएगा।”

उन्होंने कहा, “आज राष्ट्रीय विकास एक भारत, श्रेष्ठ भारत की भावना से देखा जा रहा है। विकास को अब देश की एकता और अखंडता का पर्याय माना जाता है।”

राय ने बल देकर कहा कि पूरे क्षेत्र में शांति, विकास और रोजगार के मामले में काफी प्रगति हुई है। उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर से बेहतर संयोजकता के कारण वित्तीय स्थिरता प्राप्त हुई है।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने असम राइफल्स के प्रयासों की भी सराहना की। उन्होंने खुलासा किया कि गत वर्ष ही 1,500 करोड़ रुपये के मादक पदार्थ और ड्रग्स जब्त किए गए थे।